दिल्ली में कोरोना मरीजों को घर लेने आएगा यह ई-वाहन, ऐसे देनी होगी सूचना

होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को अस्पताल जाने और आने में इससे बहुत फायदा मिलेगा.
होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को अस्पताल जाने और आने में इससे बहुत फायदा मिलेगा.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन (Satyendra Jain) ने आज दिल्ली के कोरोना मरीजों और उनके परिवारों की सहायता के लिए इस जीवन सेवा ऐप (Jeevan Seva App) को लांच किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2020, 7:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना (Corona) मरीजों के लिए राहतभरी खबर है. अब अस्पताल (Hospital) तक जाने के लिए उन्हें एंबूलेंस (Ambulance) का इंतज़ार नहीं करना होगा. सिर्फ एक क्लिक पर ई-वाहन उन्हें लेने के लिए घर के दरवाजे पर पहुंच जाएगा. यह एकदम फ्री होगा. एंबुलेंस के तौर पर इस ई-वाहन  (E-Vehicle) का इस्तेमाल किया जाएगा. दिल्ली सरकार की ओर से जारी ऐप की मदद से इस वाहन की सुविधाएं ली जा सकेंगी.

कोरोना मरीजों को ऐसे मिलेगी ई-वाहन की सुविधा

स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने बताया कि दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव आए हर मरीज को एसएमएस और क्यूआर कोड के जरिए एक लिंक भेजा जाएगा. जिसके माध्यम से मरीज इस ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. ओटीपी के माध्यम से रजिस्टर करने के बाद ऐप से कैब बुक कर सकते हैं. इसके लिए मरीज को अपनी पिक-अप और ड्रॉप लोकेशन डालनी होगी. जिसके बाद नजदीकी कैब उनकी सेवा के लिए पहुंच जाएगी. यह सेवा 24 घण्टे उपलब्ध रहेगी. ड्राइवर को ऐप के माध्यम से जानकारी मिलेगी. वे ऐप पर पिक-अप लोकेशन प्राप्त होते ही तुरंत मरीज तक पहुंच जाएंगे. रियल टाइम जीपीएस ट्रैकिंग के द्वारा कैब की निगरानी की जाएगी. इसके लिए नियुक्त सुपरवाइजर 24 घण्टे कैब पर नजर रखेंगे.



यह भी पढ़ें- जनवरी से देश के 4 लाख गांवों में जाएंगी VHP से जुड़े साधुओं की टोलियां, राममंदिर के लिए जुटाएंगी चंदा
खास तरह से ट्रेंड किए जा रहे हैं हैं कैब के ड्राइवर

स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन के मुताबिक कैब के सभी ड्राइवरों को खास तरह से ट्रेंड किया गया है. प्रशिक्षित ड्राइवरों को कोरोना से सुरक्षा के लिए सभी निर्देश दिए जाएंगे जैसे पीपीई किट पहनना, सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना आदि. ड्राइवर की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए उनके केबिन को भी इन्सुलेट किया जाएगा.

यह ऐप समय पर मरीजों को ई-कैब एंबुलेंस मुहैया कराकर दिल्ली की इमरजेंसी परिवहन सेवा को सक्षम बनाएगा. मरीज को पिक-अप टाइम के बारे में जानकारी दी जाएगी. मरीज सिर्फ ऐप के जरिए ड्राइवर से संपर्क कर सकते हैं, जिससे कैब एंबुलेंस पहुंचने के बारे में मरीज की चिंता कम होगी. यह प्रक्रिया पूरी तरह से डिजिटल है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज