• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • EMPLOYEE MADE PORN VIDEO BY INSTALLING A SECRET CAMERA IN THE CABIN OF THE ENTREPRENEUR

Ghaziabad में महिला कर्मी ने उद्यमी के केबिन में खुफिया कैमरा लगा बनाया अश्‍लील वीडियो, जानें कैसे हुआ पर्दाफाश?

पुलिस ने मामले में महिला कर्मी समेत तीन को गिरफ्तार किया (प्रतीकात्मक तस्वीर)

 गाजियाबाद में एक महिला कर्मी ने फैक्‍ट्री मालिक के केबिन में चुपके से खुफिया कैमरा लगा दिया और महिला मित्र के साथ अश्‍लील वीडियो रिकार्ड कर ली. बदले में 10 लाख रुपए की मांग की.

  • Share this:
    गाजियाबाद. एक फैक्‍ट्री की महिला कर्मचारी ने मालिक के केबिन में चुपके से खुफिया कैमरा (cameras) लगा दिया. कैमरे की मदद से मलिक के साथ उनकी महिला मित्र की अश्‍लील वीडियो (porn videos) बना लिया और उसे ब्‍लैकमेल  (blackmail) कर 10 लाख  रुपए की मांग कर डाली. इस काम में महिला का पति और उसका एक सहयोगी भी शामिल था. बाद में पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

    नंदग्राम एसएचओ नीरज कुमार सिंह ने बताया कि सेवानगर निवासी एक उद्यमी की हिंडन विहार में मशीन के पार्ट बनाने की फैक्टरी है. इस फैक्टरी में शास्‍त्रीनगर में रहने वाली एक महिला ऊंचे पद पर काम करती है. उद्यमी के एक अन्य महिला से संबंध हैं. महिला कर्मी को इस बात का पता था. इसके लिए उसने अपने पति  अंकित त्यागी और सहकर्मी अरुण के साथ  मिलकर उद्योगपति से मोटी रकम ऐंठने का प्लान बनाया. 27 मई को उद्यमी के आने से पहले महिला और सहयोगी ने केबिन में खुफिया कैमरा लगा दिया. अगले दिन उद्यमी की महिला मित्र आफिस आई. महिला कर्मचारी और सहयोगी ने कैमरा ऑन कर महिला मित्र और उद्यमी की अश्लील वीडियो रिकॉर्ड कर ली. यह अश्लील वीडियो महिलाकर्मी ने अपने पति अंकित को दे दी.

    अंकित ने अपने नाम पर एक मोबाइल सिम लिया और उद्यमी को फोन करके 10 लाख रुपये मांगे. अंकित ने खुद को कुख्यात बदमाश नीरज बवाना का आदमी बताया. यह भी कहा कि कहा कि उसकी और उसकी महिला मित्र की अश्लील वीडियो भी उसके पास है. अगर पैसे नहीं मिले तो वीडियो वायरल कर दी जाएगी. पुलिस के अनुसार आरोपियों ने उद्यमी से 30 मई को 10 लाख रुपये मांगे थे, लेकिन बाद में 6 लाखों रुपये में बात बन गई.  वहीं, घटना के पीछे किसी जानकार का शक होने पर उद्यमी ने नंदग्राम पुलिस में शिकायत दे दी. पुलिस ने सर्विलांस टीम की मदद से पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.
    Published by:Sharad Pandey
    First published: