लाइव टीवी

ED का बड़ा खुलासा, AAP नेता संजय सिंह और उदित राज से जुड़े PFI के तार! MHA को सौंपी रिपोर्ट
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 6, 2020, 4:35 PM IST
ED का बड़ा खुलासा, AAP नेता संजय सिंह और उदित राज से जुड़े PFI के तार! MHA को सौंपी रिपोर्ट
पोपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया को लेकर प्रवर्तन निदेशालय ने गृह मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंपी है

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने न्यूज़ 18 से बातचीत में कहा कि तथ्य अब सामने आ गए हैं कि किस तरह से पीएफआई (PFI) के लिंक आम आदमी पार्टी (AAP) और कांग्रेस (Congress) से जुड़ा है, और कैसे इसके लिए फंडिंग की जा रही है

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 6, 2020, 4:35 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पोपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) को लेकर प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने बड़ा खुलासा किया है. गुरुवार को ईडी ने PFI और शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में नागरिकता संशोधित कानून (CAA) के खिलाफ धरने को फंडिंग पर केंद्रीय गृह मंत्रालय (MHA) को एक रिपोर्ट सौंपी है. ईडी की रिपोर्ट के मुताबिक आम आदमी पार्टी (AAP) के राज्यसभा सांसद संजय सिंह के तार भी पीएफआई से जुड़े हुए थे. इसमें कहा गया है कि संजय सिंह पीएफआई के अध्यक्ष मोहम्मद परवेज अहमद से लगातार संपर्क में थे. ईडी ने कहा है कि संजय सिंह और परवेज के बीच वाट्सऐप चैट भी की गई है.

वहीं PFI के नेशनल सेक्टरी अनीश अहमद फिलहाल बैंगलोर में है. व्हाट्सऐप के जरिये अपनी सफाई दी और कहा है कि ED के दावों में कोई सच्चाई नही है. किसी भी तरह का कोई पैसा ट्रांसफर नही हुआ है. ये आरोप बेबुनियाद है.

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भीम आर्मी और कांग्रेस के नेता उदिज राज के भी PFI से संबंध थे. ईडी अधिकारियों का कहना है कि जिन-जिन का नाम सामने आया है उन्हें आने वाले समय में नोटिस भेजा जाएगा और इस संबंध में जवाब तलब किया जाएगा.

प्रवर्तन निदेशालय की पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) फंडिंग पर गृह मंत्रालय को भेजी गई रिपोर्ट की कॉपी


गृह मंत्रालय ने कहा- PFI से AAP और कांग्रेस के लिंक होने के तथ्य 

इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने न्यूज़ 18 से बातचीत में कहा कि तथ्य अब सामने आ गए हैं कि किस तरह से पीएफआई के लिंक आम आदमी पार्टी और कांग्रेस से जुड़ा है, और कैसे इसके लिए फंडिंग की जा रही है. नित्यानंद राय ने एक बार फिर कहा कि शाहीन बाग प्रोटेस्ट के पीछे आम आदमी पार्टी का हाथ है.

यूपी सरकार ने PFI पर बैन लगाने की मांग की है

बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने PFI को बैन करने की मांग की है. इस बारे में यूपी सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को पत्र भी लिखा था. यूपी सरकार ने कहा था कि CAA के विरोध में राज्य में जिस तरह के हिंसक विरोध प्रदर्शन हुए, उसके पीछे इस संगठन का हाथ बताया जा रहा है. प्रदेश के तत्कालीन डीजीपी ओपी सिंह ने भी कहा था कि राज्य के कई इलाकों में दंगा और तोड़फोड़ करने के आरोप में पीएफआई के 25 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है.

(इनपुट: अनूप गुप्ता )

ये भी पढ़ें -

जानें कितना खतरनाक है PFI, जिसे बैन करने की मांग कर रही है यूपी सरकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 12:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर