प्रोगनीक के साथ कीजिए प्रकृति की नए सिरे से सुरक्षा

बीते कुछ महीनों में पूरी दुनिया का ध्यान स्वास्थ्य और कल्याण की हो गया है। ऐसे में प्रोगनीक की भूमिका और ज्यादा प्रासंगिक हो गई है।

बीते कुछ महीनों में पूरी दुनिया का ध्यान स्वास्थ्य और कल्याण की हो गया है। ऐसे में प्रोगनीक की भूमिका और ज्यादा प्रासंगिक हो गई है।

बीते कुछ महीनों में पूरी दुनिया का ध्यान स्वास्थ्य और कल्याण की हो गया है। ऐसे में प्रोगनीक की भूमिका और ज्यादा प्रासंगिक हो गई है।

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 25, 2020, 11:07 PM IST
  • Share this:

मां प्रकृति जब से दुनिया बनी हैं तब से ही हमारी देखभाल कर रही हैं. इस सबसे बड़ा उदाहारण है फूड इंडस्ट्री. इस क्षेत्र में अब तक तकनीकी ने कोई बहुत बड़ी क्रांति नहीं की है इसके बाद भी अभी तक दुनिया को फूड को लेकर उतनी चुनौतियों का सामना नहीं करना पड़ रहा है. लेकिन अब हमने प्राकृतिक संसाधनों इतना ज्यादा दोहन कर लिया है कि हमें इसके बचाव की भी जरूरत पड़ रही है. प्रोगनीक ने ये जिम्मेदारी उठाई है कि वो फूड इंडस्ट्री में प्राकृतिक उत्पादों करे लेकर काम करेगा जिससे कि शरीर में उतनी ही चीजों पहुंचे, जितनी शरीर को जरूरत है.


प्रोगनीक और प्राकृतिक उत्पाद

प्रोगनीक के उत्पादों में सबसे ज्यादा इस बात खयाल रखा जाता है कि कैसे इस तरह का उत्पादन किया जाए जो इंसान की सेहत को फायदा पहुंचाने के साथ प्रकृति को भी लाभ पहुंचाएं. असल में अब तक इंसानों ने अपने लाभ और खुशी के लिए लगातार प्रकृति के क्या ठीक है क्या नहीं, इसको नजरअंदाज किया है. भले शुरुआती समय में हम यह नजरअंदाज कर जाएं लेकिन दूरकालिक परिणाम यही सामने आते हैं कि हमारी ही सेहत खराब होती है. प्रोगनीक इसी खाई को भरने में लगा हुआ है.


बीते कुछ महीनों में पूरी दुनिया का ध्यान स्वास्थ्य और कल्याण की हो गया है. ऐसे में प्रोगनीक की भूमिका और ज्यादा प्रासंगिक हो गई है. एफएफएसएआई की मंजूरी के साथ ये अपने सभी उत्पादों को प्राकृतिक बनाए रखने की भरसक कोशिश कर रहा है. इस वक्त आपने गो ऑर्गेनिक, स्टे हेल्दी जैसी बातें जमकर सुनी होंगी. प्रोगनीक इसी को कर दिखाने में लगा हुआ है.


कई कंपनियां और उत्पाद हैं जो सभी प्राकृतिक होने के बारे में दावा करते हैं. लेकिन प्रोगनीक का दावा है वे वास्तव में इस दिशा में अग्रसर हैं. इसके लिए उनके यहां कई साल से रिसर्च चल रहा था. अब जाकर उन्हें इस काम को करने का सही तरीका मिला है. उन्होंने अपने उत्पादों को पूरी तरह से प्राकृतिक रखने के साथ इस बात का भी पूरा ध्यान रखा है इससे प्रकृति को कोई नुकसान ना पहुंचने पाए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज