Home /News /delhi-ncr /

दिल्ली: NCERT की नकली किताबें छापने का आरोपी गिरफ्तार, 35 लाख रुपये की बुक्स बरामद

दिल्ली: NCERT की नकली किताबें छापने का आरोपी गिरफ्तार, 35 लाख रुपये की बुक्स बरामद

. एनसीईआरटी के वॉटरमार्क के साथ प्रिंटिंग पेपर और नवीनतम ऑफसेट प्रिंटिंग मशीन भी बरामद की गई हैं.

. एनसीईआरटी के वॉटरमार्क के साथ प्रिंटिंग पेपर और नवीनतम ऑफसेट प्रिंटिंग मशीन भी बरामद की गई हैं.

प्रिंटिंग प्रेस का मालिक आरोपी मनोज जैन फरार था. एनसीईआरटी की किताबों की हमेशा से भारी मांग रही है. इसके अलावा मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने सीबीएसई से संबद्ध स्कूलों के लिए एनसीईआरटी की पुस्तकों को अनिवार्य बनाने के प्रयास किए हैं. स

अधिक पढ़ें ...

    दीपक बिष्ट

    नई दि ल्ली. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एनसीआरटी (NCERT) की पायरेटेड किताब छापने में शामिलब एक आरोपी को गिरफ्तार किया है. 35 लाख से ज्यादा की किताबों को बरामद किया है. एनसीईआरटी के वॉटरमार्क के साथ प्रिंटिंग पेपर और नवीनतम ऑफसेट प्रिंटिंग मशीन भी बरामद की गई हैं. इनके पास से 80 हज़ार कागज की प्रिंट की हुई शीट, जिससे 12 हज़ार पायरेटेड पुस्तकें तैयार की जा सकती है. 166 मेटेलिक प्लेटों का उपयोग पुस्तकों की उल्लंघनकारी प्रतियों को छापने के लिए किया जाता है. दो नवीनतम ऑफसेट प्रिंटिंग मशीनें, 5,000 पायरेटेड एनसीईआरटी किताबें, बड़ी मात्रा में एनसीईआरटी वॉटरमार्क वाला सादा कागज, जिसका इस्तेमाल पायरेटेड किताबों की छपाई के लिए किया जा रहा था.

    क्राइम ब्रांच की टीम ने बुक्स रैकेट के मास्टरमाइंड मनोज जैन पूर्वी नाथू कॉलोनी को इस मामले में गिरफ्तार किया है. 19 सितम्बर को मंडोली दिल्ली स्थित एक प्रिंटिंग यूनिट पर छापेमारी की गई और एनसीईआरटी की भारी मात्रा में पायरेटेड तैयार और अर्ध-निर्मित पुस्तकें बरामद की गईं, जिसमें 420 और 63, 65 कॉपीराइट एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया.

    प्रिटिंग प्रेस का मालिक फरार था

    प्रिंटिंग प्रेस का मालिक आरोपी मनोज जैन तब से फरार था. एनसीईआरटी की किताबों की हमेशा से भारी मांग रही है. इसके अलावा मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने सीबीएसई से संबद्ध स्कूलों के लिए एनसीईआरटी की पुस्तकों को अनिवार्य बनाने के प्रयास किए हैं. सरकार का यह कदम इस आरोप के बीच आया है कि कई स्कूल कथित तौर पर छात्रों को निजी प्रकाशकों की महंगी किताबें खरीदने के लिए मजबूर कर रहे हैं. कथित तौर पर स्कूलों के प्रबंधन को प्रकाशकों द्वारा अपनी किताबें निर्धारित करने के एवज में मोटी रकम का लाभ मिल रहा था.

    अचानक किताबों की मांग बढ़ी

    सरकार के इस कदम के परिणामस्वरूप एनसीईआरटी पुस्तकों की मांग में अचानक वृद्धि हुई. कुछ लोगों ने पायरेटेड किताबें छपवाकर स्थिति का फायदा उठाया. क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि यमुना पार क्षेत्र में पायरेटेड एनसीईआरटी पुस्तकों के मुद्रण में शामिल एक प्रकाशन इकाई कार्यरत है. उक्त घटिया गुणवत्ता वाली पायरेटेड पुस्तकों को बाजार में सस्ती दरों पर आपूर्ति की जा रही है, जिससे एनसीईआरटी को भारी राजस्व हानि हो रही है. ऑफ़सेट यूनिट 6 छठी से 12 वीं तक की विभिन्न विषयों की पायरेटेड एनसीईआरटी पुस्तकें प्रकाशित कर रही है. इसके बाद क्राइम ब्रांच के डीसीपी राजेश देव की अगुवाई में टीम बनाई गई और छापेमारी के बाद पकड़ा गया.

    Tags: Books, Delhi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर