• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • दिल्ली की ये मशहूर इलेक्ट्रॉनिक मार्केट होगी बंद, 45 साल में ही बिल्डिंग हो गई जर्जर

दिल्ली की ये मशहूर इलेक्ट्रॉनिक मार्केट होगी बंद, 45 साल में ही बिल्डिंग हो गई जर्जर

एमसीडी ने करोलबाग स्थित गफ्फार मार्किट के एमसीडी बिल्डिंग को खाली कराने का नोटिस दिया है. (फाइल फोटो)

एमसीडी ने करोलबाग स्थित गफ्फार मार्किट के एमसीडी बिल्डिंग को खाली कराने का नोटिस दिया है. (फाइल फोटो)

Delhi News: दिल्ली की करोलबाग स्थित गफ्फार मार्केट (Gaffar Market) अब टूटने जा रही है. एमसीडी ने बिल्डिंग को खाली कराने का नोटिस दे दिया है. एमसीडी के मुताबिक यह बिल्डिंग जर्जर हो चुकी है.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली की मशहूर इलेक्ट्रॉनिक मार्केट (Electronic Market) अब टूटने जा रही है. नॉर्थ नगर निगम (North MCD) ने करोलबाग स्थित गफ्फार मार्किट (Gaffar Market) के एमसीडी बिल्डिंग को खाली कराने का नोटिस दे दिया है. एमसीडी के मुताबिक यह बिल्डिंग जर्जर हो चुकी है. बुधवार को एमसीडी ने साफ किया है कि जर्जर हो चुकी इस बिल्डिंग को तोड़ कर नए सिरे से तैयार किया जाएगा. दरअसल, आईआईटी (IIT) रुड़की के सर्वे में यह पाया गया है कि ये बिल्डिंग पूरी तरह से जर्जर हो चुकी है और इसे जल्द से जल्द खाली कर देना चाहिए. बिल्डिंग खाली नहीं करने से यहां पर कोई बड़ा हादसा हो सकता है. इस मार्केट में तकरीबन 75 दुकानें हैं.

बिल्डिंग हो चुकी है जर्जर
बता दें कि आईआईटी रुड़की की रिपोर्ट के बाद एमसीडी ने इन दुकानों को तीन के अंदर खाली करने का नोटिस थमा दिया है. इस नोटिस के बाद दुकानदारों ने जब हंगामा किया तो MCD ने दुकान खानी करने की मियाद तीन दिन से बढ़ा कर दस दिन कर दी. इसके बावजूद यहां के दुकानदार परेशान हैं और उनका कहना है कि वह अब जाएं तो कहां जाएं.

karol bagh, gaffar market, vacated, notice, mcd, safety concerns, iit rurki, iit rudki, aap, bjp, mcd news, electronic market, दिल्ली की मशहूर इलेक्ट्रॉनिक मार्केट, एमसीडी मार्केट क्यों टूटेगी, नॉर्थ नगर निगम, करोलबाग, गफ्फार मार्किट, एमसीडी बिल्डिंग, famous electronic market in delhi will be closed due to mcd building dilapidated in 45 years shop owners aap bjp nodrss

आईआईटी रुड़की की रिपोर्ट के बाद एमसीडी ने इन दुकानों को तीन के अंदर खाली करने का नोटिस थमा दिया है. (file photo)

क्या कहना है दुकानदारों का
दुकानदारों ने आरोप लगाया है कि आप आदमी पार्टी और बीजेपी के बीच चल रही खींचतान में उन्हें बली का बकरा बनाया जा रहा है. इनलोगों का आरोप है कि एमसीडी चुनाव को देखते हुए दोनों पार्टियों में सियासत शुरू हो गई है. दुकानदारों ने कहा कि इस मार्केट की बिल्डिंग साल 1975 में बनी थी. साल 1976 में एमसीडी ने हमलोगों ने 99 साल की लीज इस बिल्डिंग को अलॉट किया था. 45 सालों में ही यह बिल्डिंग कैसे जर्जर हो गई? वहीं, आम आदमी पार्टी प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने बीजेपी पर आरोप लगाया है कि लोगों को बीच मझधार में छोड़ दिया गया है.

एमसीडी क्या तर्क दे रही है
वहीं. नॉर्थ MCD की स्टैंडिंग कमिटी के अध्यक्ष जोगी राम ने साफ किया है कि जो भी फैसला होगा वह दुकानदारों से मिलकर ही किया जाएगा और इस बारे में रोज MCD और दुकानदारों की मीटिंग हो रही है. बहरहाल MCD ने यह साफ किया है कि बिल्डिंग जरूर तोड़ी जाएगी, पर लोगों के हितों का ध्यान रखा जाएगा. वहां बैठने वाले दुकानदारों को कोई टेम्परेरी जगह भी दी जाएगी.

ये भी पढ़ें: केजरीवाल सरकार के इस मंत्री ने किया ऐलान, दिल्ली में अगले 5 साल नहीं बढ़ेंगी बिजली की दरें

हलांकि, दुकानदारों ने कहा है कि वह फिलहाल इस बिल्डिंग को खाली नहीं करेंगे. इस बिल्डिंग के 75 दुकानदारों ने दुकानें खाली करने का नोटिस देने के बाद भी दुकान खोलने की बात कर रहे हैं. इन लोगों का कहना है कि जबतक उन्हें दूसरी जगह दुकानें नहीं दी जाएंगी, तब तक वह दुकानें खाली नहीं करेंगे. बुधवार को इस मामले में निगम और दुकानदारों के बीच महत्वपूर्ण बैठक भी हुई है. बता दें कि बीते 23 जुलाई को उत्तरी निगम ने सभी दुकानदारों को 3 10 दिनों के अंदर दुकान खाली करने का नोटिस भेजा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज