टिकरी बॉर्डर पर किसान की गला रेत कर हत्या, कच्चे रास्ते पर मिला शव

सूरत में लुटेरों ने बुजुर्ग की हाथ-पैर बांधकर की हत्‍या, (सांकेतिक फोटो)

सूरत में लुटेरों ने बुजुर्ग की हाथ-पैर बांधकर की हत्‍या, (सांकेतिक फोटो)

हत्या (Murder) के कारणों और हमलावरों का नहीं चल सका पता, पुलिस ने मामला दर्ज कर शुरू की जांच.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 10:23 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. टिकरी बॉर्डर पर एक किसान की गला रेत कर हत्या कर दी गई. जानकारी के अनुसार किसान का शव बहादुरगढ़ बाईपास पर नया बस स्टैंड के पास कच्चे रास्ते पर मिला. मृतक किसान की पहचान हाकम सिंह के तौर पर हुई है और वह पंजाब के भठिंडा जिले का रहने वाला था. वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और शव को जांच के बाद पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया है. अभी तक हत्या के कारणों और आरोपितों की पहचान नहीं हो सकी है. हालांकि पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

वहीं इससे पहले टिकरी बॉर्डर पर ही हरियाणा के एक किसान ने कुछ दिनों पहले आत्महत्या कर ली थी. किसान की पहचान राजबीर के तौर पर हुई थी. पुलिस के अनुसार आत्महत्या करने वाला किसान हिसार जिले का रहने वाला था और घटनास्‍थल के पास ही उसका शव एक पेड़ से लटकता हुआ मिला था. बताया गया था कि राजबीर कृषि कानूनों का विरोध शुरू से ही करता आया था और लंबे समय से आंदोलन से जुड़ा था.

महिला की भी मौत

वहीं कुछ सोमवार को टिकरी बॉर्डर पर ही पंजाब की एक महिला किसान की मौत हो गई थी. 65साल की बलबीर कौर की मौत हार्ट अटैक आने के चलते हुई. उन्हें अचानक रात में बेचैनी और सीने में दर्द की शिकायत हुई. इसके बाद उन्हें बहादुरगढ़ के सिविल अस्पताल लाया गया लेकिन तब तक उनकी मौत हो गई थी. बलबीर कौर आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाली पहली महिला आंदोलनकारी हैं.
इनपुटः दीपक भारद्वाज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज