अपना शहर चुनें

States

कृषि कानूनों के खिलाफ बॉर्डर पर जमे हैं किसान, केंद्र सरकार के साथ पांचवें दौर की बातचीत होगी कल

नए कृषि कानूनों के खिलाफ नोएडा के पास दिल्ली बॉर्डर पर अभी भी टिके हैं किसान.
नए कृषि कानूनों के खिलाफ नोएडा के पास दिल्ली बॉर्डर पर अभी भी टिके हैं किसान.

इस बीच आंदोलनकारी किसान दिल्ली के मयूर विहार के पास नोएडा-दिल्ली बॉर्डर पर जमे हुए हैं. नई कृषि नीतियों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन अभी भी जारी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 2:01 AM IST
  • Share this:
दिल्ली. केंद्र सरकार (central government) के साथ किसानों (Farmers) की चार राउंड की बातचीत के बाद भी कोई नतीजा नहीं निकल सका है. पांचवें राउंड की बातचीत कल होनी है. इस बीच आंदोलनकारी किसान दिल्ली के मयूर विहार के पास नोएडा-दिल्ली बॉर्डर पर जमे हुए हैं. नई कृषि नीतियों (New Agriculture Law 2020) के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन अभी भी जारी है. किसान अभी भी दिल्ली (Delhi) की सीमाओं में डटे हुए हैं और पीछे हटने का नाम नहीं ले रहे हैं.

गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों की जांच करने पहुंचे डॉक्टर्स

गाजीपुर सीमा (Ghazipur Border) पर मौजूद किसानों को वॉलंटियर्स की टीम ने दवाई बांटी. आंदोलन कर रहे किसानों का चेकअप भी किया गया. किसानों की जांच करने आए डॉक्टर का कहना है कि ज्यादातर मरीज को गैस्ट्रिक और शरीर में दर्द की समस्या है. यह पहला दिन है जो हम यहां आए हैं. हमने अब तक लगभग 100 मरीजों का इलाज किया है.





दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने किसानों से मुलाकात की

इस बीच दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) ने सिंघु बॉर्डर पर पहुंच कर पंजाब और हरियाणा से आए हुए किसानों से मुलाकात की. इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने किसानों के लिए किए गए बुनियादी जरूरतों के इंतजामों का जायजा लिया. स्वास्थ्य मंत्री ने कृषि बिल के खिलाफ आंदोलन कर रहे है किसानों को आश्वासन दिया कि दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal Government) उनकी हर तरह से सहायता करेगी और उनके आंदोलन में दिल्ली सरकार का पूरा सहयोग है.



आम आदमी पार्टी किसान आंदोलन के साथ : सत्येंद्र जैन

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि दिल्ली सरकार की ओर से पीने के पानी, खाना और मोबाइल शौचालय की व्यवस्था कर दी गई है. उन्होंने कहा कि किसानों की परेशानी कम करने के लिए दैनिक आवश्यकता वाली सभी सुविधाएं मुहैया कराई गई है. साथ ही स्वास्थ्य आपदा को ध्यान में रखते हुए डॉक्टर्स की टीम और एंबुलेंस का विशेष प्रबंध किया गया है, ताकि किसी भी आपदा की स्थिति से निपटने में आसानी हो.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज