अपना शहर चुनें

States

Farmers Protest: राकेश टिकैत बोले- किसानों को तय रूट पर जाने नहीं दिया गया, लाठी-डंडों वाले बयान पर दी सफाई

किसान नेता राकेश टिकैत  (Pic- ANI)
किसान नेता राकेश टिकैत (Pic- ANI)

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि हम 35 साल से आंदोलन कर रहे हैं. ये उपद्रव किसने किया इसकी जांच होनी चाहिए. वहीं उन्होंने कहा कि हम झंडा लेकर गए लाठी लेकर नहीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2021, 11:40 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस (Republic Day 2021) के मौके पर आंदोलनकारी किसानों ने दिल्ली में ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) निकाली. इस दौरान लाल किला समेत कई जगहों पर जमकर हिंसा और उपद्रव (Violence) भी हुआ. दिल्ली में हुए उपद्रव को लेकर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि मंगलवार को किसानों का प्रदर्शन ठीक रहा. वहीं उन्होंने कहा कि हमारे लोग तोड़फोड़ नहीं करते. हम 35 साल से आंदोलन कर रहे हैं. ये उपद्रव किसने किया इसकी जांच होनी चाहिए. वहीं उन्होंने लाठी डंडे वाले बयान पर कहा कि हम झंडा लेकर गए लाठी लेकर नहीं.

दरअसल लाल किले तक चले किसानों के बवाल के बाद किसान नेता राकेश टिकैत का एक वीडियो सामने आया. इस वीडियो में भाकियू नेता राकेश टिकैत किसानों से लाठी-डंडा साथ रखने की बात कर रहे हैं. इसके साथ ही टिकैत ये कहते हुए भी दिखाई दे रहे हैं कि किसानों से उनकी जमीन छीन ली जाएगी. सरकार मान नहीं रही है और अब सब आ जाओ अपनी जमीन नहीं बच रही. जिस पर टिकैत ने अपनी सफाई दी है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने पुलिस पर हमला किया हम उनके फुटेज मंगा रहे हैं, ऐसे लोगों को आंदोलन छोड़ना होगा. वहीं उन्होंने कहा कि हमारी जिस रूट पर जाने की बात हुई थी हमें वहां से जाने नहीं दिया गया.

टिकैत ने कहा कि जिस रूट पर बात हुई थी सभी किसान उस पर जा रहे थे, लेकिन उन्हें जाने नहीं दिया गया. उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर मार्च अगर उसी मार्ग पर चलते तो वो गांव चले जाते. वहीं उन्होंने कहा कि ये सरकार की चाल थी. लालकिले का रास्ता खुला दोगे तो किसान को क्या पता, दिल्ली की सड़कों को साधारण कार वाले नहीं समझ पाते तो ट्रैक्टर चलाने वाला क्या जाने, वह रास्ता भटक गया. टिकैत के मुताबिक पुलिस ने रात 1 बजे तक भी रास्ता नहीं दिया.



बता दें कि एक तरफ कुछ किसान नेता दिल्ली में हुए उपद्रव को दुर्भाग्यपूर्ण बता रहे हैं, तो कुछ का कहना है कि उनका उपद्रव करने वालों से कोई लेना-देना नहीं है और न ही वे उनके संगठन से हैं. इन सब के बीच किसान नेता राकेश टिकैत ने एक ट्वीट भी किया था, जिसने सभी को चौंका दिया. राकेश टिकैत ने किसानों को रैली की सफलता के लिए बधाई दे डाली. साथ ही उन्होंने पूरे आंदोलन को शांतिपूर्ण और सफल ट्रैक्टर परेड बताया. साथ ही उन्होंने सरकार को भी लंबी चौड़ी सलाह भी दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज