अपना शहर चुनें

States

Farmer Protest: किसानों ने दी चेतावनी, 3 बजे फैसला नहीं हुआ तो बैरिकेड तोड़कर जंतर मंतर जाएंगे

 किसान अपने साथ ट्रैक्टर लेकर आए थे, जिससे पुलिस बैरियर को हटाने का प्रयास किया गया.
किसान अपने साथ ट्रैक्टर लेकर आए थे, जिससे पुलिस बैरियर को हटाने का प्रयास किया गया.

गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) पर किसानों ने ट्रैक्टर लेकर पुलिस बैरिकेड तोड़ने का प्रयास किया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर हजारों की संख्या में जुटे किसानों ने राजधानी में प्रवेश के रास्ते पर लगे बैरिकेड को तोड़ने का प्रयास किया.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों (Agricultural Laws) के खिलाफ दिल्ली-चलो अभियान के तहत आंदोलन कर रहे किसानों ने मामले पर वार्ता कर रही सरकार को खुली चेतावनी दे दी है. किसानों ने कहा है कि अगर आज 3 बजे तक फैसला नहीं हुआ, तो वे बैरिकेड तोड़कर जंतर मंतर (Jantar Mantar) तक जाएंगे. किसानों ने साफ लहजे में कहा है कि वे पिछले ढाई महीने से आंदोलन कर रहे हैं, फिर भी उनकी समस्या का कोई समाधान नहीं निकल रहा. इसलिए किसान (Farmer) अब बर्दाश्त नहीं करेंगे.

इधर, गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों ने ट्रैक्टर लेकर पुलिस बैरिकेड तोड़ने का प्रयास किया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर हजारों की संख्या में जुटे किसानों ने राजधानी में प्रवेश के रास्ते पर लगे बैरिकेड को तोड़ने का प्रयास किया. किसान अपने साथ ट्रैक्टर लेकर आए थे, जिससे पुलिस बैरियर को हटाने का प्रयास किया गया.






किसानों की मांगे नहीं मानी गई तो वे हड़ताल पर जाएंगे
वहीं, कुछ देर पहले खबर सामने आई थी कि ऑल इंडिया टैक्सी यूनियन (All India Taxi Union) ने सोमवार को चेतावनी दी कि अगर नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों की मांगे नहीं मानी गई तो वे हड़ताल पर जाएंगे. यूनियन के अध्यक्ष ने इसकी जानकारी दी. यूनियन के अध्यक्ष बलवंत सिंह भुल्लर (Balwant Singh Bhullar) ने कहा कि वे किसानों की मांगों को पूरा करने के लिए उन्हें दो दिन का समय दे रहे हैं. भुल्लर ने कहा, ‘‘ हम प्रधानमंत्री और कृषि मंत्री से अपील करते हैं कि वे इन कानूनों को वापस लें. कॉर्पोरेट सेक्टर हमें बर्बाद कर रहा है. अगर दो दिनों के भीतर सरकार इन कानूनों को वापस नहीं लेती है तो हम सड़क से अपने वाहनों को हटा लेंगे. हम देश के सभी चालकों से अपील करते हैं कि वे 3 दिसंबर से वाहन चलाना बंद कर दें.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज