CAA पर शाहीन बाग में धरना-प्रदर्शन से एक गुट ने किया किनारा, राजनीति करने का लगाया आरोप

शाहीन बाग धरना प्रदर्शन (फाइल फोटो)

विरोध-प्रदर्शन (CAA Protest) वापस लेने वाले तबके ने सरिता विहार-कालिंदी कुंज मार्ग पर घेराबंदी का कार्यक्रम वापस ले लिया. प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि उनके द्वारा किए जा शांतिपूर्ण प्रदर्शन का राजनीतिकरण किया जा रहा है

  • Share this:
    नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर दिल्ली (Delhi) समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध-प्रदर्शन (CAA Protest) हो रहा है. दिल्ली के शाहीन बाग (Shaheen Bagh) इलाके में बीते 20 दिन से इसके खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है. इस विरोध-प्रदर्शन की अगुवाई शाहीन बाग और जामिया नगर (Jamia Nagar) में रहने वाली महिलाएं (Women) कर रही हैं. गुरुवार को प्रदर्शन कर रहे एक तबके (गुट) ने इससे किनारा कर लिया. विरोध-प्रदर्शन वापस लेने वाले तबके ने सरिता विहार-कालिंदी कुंज मार्ग पर घेराबंदी का कार्यक्रम वापस ले लिया. प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि उनके द्वारा किए जा शांतिपूर्ण प्रदर्शन का राजनीतिकरण किया जा रहा है.

    राजनीतिकरण का लगाया आरोप
    शाहीन बाग समन्वय समिति के शरजील इमाम ने एक बयान में कहा, ‘हमने शाहीन बाग में सड़क घेराबंदी को वापस ले लिया ताकि पार्टी के गुंडे हिंसा न कर पाएं और पार्टियां मंच का उपयोग राजनीति के लिए ना कर सकें.’ उन्होंने कहा कि संभवतः पुलिस से हस्तक्षेप (दखल) न करने को कहा गया था क्योंकि बीजेपी खुद हस्तक्षेप करना चाहती थी. अगर ऐसा होता है तो हमारा शांतिपूर्ण विरोध-प्रदर्शन बेकार हो जाएगा और इससे लोगों का मनोबल टूटेगा.

    अन्य शहरों का करेंगे रुख
    इमाम ने कहा कि प्रदर्शनकारी हांगकांग में विरोध-प्रदर्शन के दौरान प्रयोग हुई नीति का प्रयोग करते हुए विरोध को अन्य शहरों में ले जाएंगे. बयान में कहा गया, ‘आपसे हमारा निवेदन है कि इस मंच को किसी भी प्रकार की सहायता न दें क्योंकि अब इसे राजनीतिक पार्टियों और धन के लोभी गिरोहों द्वारा हाईजैक कर लिया गया है जिन्हें दंगों और इसके परिणाम के बारे में कोई चिंता नहीं है.’

    ये भी पढ़ें: जामिया के छात्रों ने अपनाया CAA के विरोध का नया तरीका, सड़कों पर की चित्रकारी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.