होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /लोकसभा चुनाव 2019: मुस्लिम बहुल इलाकों में जमकर चला PM मोदी का जादू

लोकसभा चुनाव 2019: मुस्लिम बहुल इलाकों में जमकर चला PM मोदी का जादू

पीएम मोदी (फाइल फोटो)

पीएम मोदी (फाइल फोटो)

2019 के लोकसभा चुनाव में एनडीए को पूरब, पश्चिम और उत्तर भारत सहित सभी जगहों पर मुसलमानों का वोट मिला. उत्तर प्रदेश में ...अधिक पढ़ें

    यह आम धारणा है कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को अल्पसंख्यक वोट हासिल नहीं होते लेकिन 2019 के लोकसभा चुनावों ने इस धारणा को तोड़ा है. इस बार के लोकसभा चुनाव में कुल 27 मुस्लिम प्रत्याशी जीतकर संसद में पहुंचे हैं. लोकसभा की 84 सीटें ऐसी हैं जहां मुस्लिम आबादी 20 फीसदी से ज्यादा है. उन 84 सीटों में से 34 सीटों पर बीजेपी को जीत मिली है. वहीं, मुस्लिम बहुल 84 सीटों में से 39 सीटों पर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के कैंडिडेट को जीत मिली.

     मुस्लिम बहुल 18 सीटों में से 10 पर BJP ने दर्ज की जीत 

    बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में एनडीए को पूरब, पश्चिम और उत्तर भारत सहित सभी जगहों पर मुसलमानों का वोट मिला. उत्तर प्रदेश में मुस्लिम बहुल 18 सीटों में से 10 पर बीजेपी ने जीत दर्ज की. वहीं, पश्चिम बंगाल की मुस्लिम बहुल 18 सीटों में से 4 सीट पर भी बीजेपी ने जीत हासिल की. बात यदि असम की करें तो 8 मुस्लिम बहुल सीटों में से बीजेपी ने 4 सीटों पर जीत का परचम लहराया. इसी तरह जम्मू और कश्मीर की मुस्लिम बहुल दोनों सीटों पर भी बीजेपी को जीत मिली.

    बिहार में मुस्लिम बहुल 9 में से 8 सीटों पर NDA की जीत

    बिहार की मुस्लिम बहुल 9 सीटों में से 8 पर एनडीए के कैंडिडेट जीते. महाराष्ट्र पर एक नजर डालें तो यहां पर भी मुस्लिम बहुल 4 सीटों में से 3 सीटों पर एनडीए को कामयाबी मिली. इसी तरह मध्य प्रदेश की अल्पसंख्यक बहुल दोनों सीटें बीजेपी की खाते में आईं. हरियाणा की अल्पसंख्यक बहुल 2 और दिल्ली की एक सीट पर बीजेपी का कमल खिला. हालांकि, इसके बावजूद भी सियासी विरोधियों को एनडीए की ये जीत पच नहीं रही है.

    मोदी सरकार के काम पर भरोसा
    लोकसभा चुनाव के नतीजों से ऐसा लग रहा है कि अल्पसंख्यक समुदाय में मोदी सरकार की नीतियों के प्रति झुकाव बढ़ा है. मोदी सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में तीन तलाक के मुद्दे को जोर-शोर से उठाकर मु्स्लिम महिलाओं के वोटों का रुख अपनी पार्टी की तरफ मोड़ने की कोशिश की थी. अब इस बिल को बीजेपी राज्यसभा में पास कराने की तैयारी में है.

    आयुष्मान योजना से मिला काफी लाभ 

    कहा जाए तो मोदी सरकार से तीन तलाक मुद्दे पर मुस्लिम महिलाएं जुड़ीं. वहीं, उज्ज्वला योजना से गरीब मुस्लिम महिलाएं जुड़ीं. गरीब मुसलमानों को सरकार के आयुष्मान योजना से काफी लाभ मिला. रिपोर्ट के अनुसार, पीएम आवास योजना और शौचालय योजना की वजह से भी मुस्लिम समुदाय बीजेपी से जुड़ा. इसके बाद भी मोदी सरकार मुसलमानों के लिए कई घोषणाएं कर उनका विश्वास जीतने की कोशिश कर रही है.

    ये भी पढ़ें-

    गर्ल्स हॉस्टल में रात को आते थे पुरुष, वॉर्डन कराती थी काम

    जमीन विवाद के चलते महिला ने युवक के चेहरे पर फेंका तेजाब

    आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

    दिल्ली-एनसीआर
    दिल्ली-एनसीआर

    Tags: BJP, Lok Sabha Election 2019, Muslim, PM Modi

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें