लाइव टीवी

हेट स्पीच: अनुराग ठाकुर और कपिल मिश्रा के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका, 4 मार्च को होगी अगली सुनवाई
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: March 2, 2020, 10:58 AM IST
हेट स्पीच: अनुराग ठाकुर और कपिल मिश्रा के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका, 4 मार्च को होगी अगली सुनवाई
अनुराग ठाकुर और कपिल मिश्रा के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका (फाइल फोटो)

शीर्ष अदालत में दाखिल याचिका में हर्ष मंदर ने आरोपी नेताओं के खिलाफ तत्‍काल FIR दर्ज करने को लेकर निर्देश देने की मांग की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 2, 2020, 10:58 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. बीजेपी नेताओं के कथित भड़काऊ भाषण का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. हर्ष मंदर ने सोमवार को केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur), बीजेपी नेता कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) समेत अन्‍य के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है. शीर्ष अदालत में दाखिल याचिका में हर्ष मंदर ने आरोपी नेताओं के खिलाफ तत्‍काल FIR दर्ज करने को लेकर निर्देश देने की मांग की है. इस याचिका पर मुख्‍य न्‍यायाधीश जस्टिस बोबडे की पीठ ने सुनवाई की. पीठ ने मामले को बुधवार (4 मार्च) तक के लिए टाल दिया गया है. इससे पहले दिल्‍ली हाईकोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई 13 अप्रैल तक के लिए टाल दिया था.

क्या बोले थे कपिल मिश्रा
बता दें कि बीते दिनों बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने एक बयान दिया था. उनके बयान को विपक्ष ने उकसाने वाला बताया था. जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास जो धरना प्रदर्शन जारी था, उसके खिलाफ कपिल मिश्रा ने बयान दिया कि अगर तीन दिनों में ये धरना खाली नहीं हुआ तो हम सड़कों पर उतरेंगे और फिर दिल्ली पुलिस की भी नहीं सुनेंगे. कपिल मिश्रा जब ये बयान दे रहे थे, तब दिल्ली पुलिस के अफसर भी उनके साथ खड़े थे.

अनुराग ठाकुर का वायरल वीडियो



वहीं, दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी नेता और केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर की रैली का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. इस वीडियो में विवादित नारे लगते सुनाई दे रहे हैं. वीडियो में अनुराग ठाकुर मंच से नारे बोलते हुए सुनाई दे रहे हैं कि 'देश के गद्दारों को.... जिसके बाद मंच के नीचे मौजूद लोग 'गोली मारो...' बोलते हैं.



दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई
इससे पहले दिल्ली हिंसा मामले में गुरुवार को दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. इस दौरान सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि यह हेट स्पीच देने वाले नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का अभी सही समय नहीं है. सही वक्त आने पर एफआईआर दर्ज होगी. उन्होंने यह भी कहा कि अभी सरकार और सुरक्षा एजेंसियों का ध्यान हालात को काबू करने और शांति बहाल करने पर है. साथ ही उन्होंने कोर्ट को बताया कि इस मामले में अब तक 48 एफआईआर दर्ज हो चुके हैं. इस पर दिल्ली हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डीएन पटेल ने मामले की सुनवाई 4 हफ्तों के लिए टाल दिया. साथ ही गृह मंत्रालय को पक्षकार बनाते हुए भड़काऊ भाषण मामले में विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया है.

13 अप्रैल को होगी अगली सुनवाई
दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली पुलिस और केंद्र सरकार को भड़काऊ बयान को लेकर दाखिल याचिका पर विस्तृत जवाब दाखिल करने को कहा. 4 सप्ताह में गृह मंत्रालय को जवाब दायर करने का निर्देश दिया गया. इस मामले पर अगली सुनवाई 13 अप्रैल को होगी. कोर्ट में मौजूद पुलिस अफसर ने प्रवीर रंजन ने बताया कि बुधवार तक 11 एफआईआर दर्ज थे. इस मामले में गृह मंत्रालय को भी पक्षकार बनाया गया है. साथ ही इस मामले की सुनवाई अगले 4 हफ्ते तक के लिए टाल दी गई है.

ये भी पढ़ें: दिल्ली हिंसा के खिलाफ कपिल मिश्रा का शांति मार्च, कहा- अंकित शर्मा के घर भी जाएं केजरीवाल
First published: March 2, 2020, 10:30 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading