लाइव टीवी

Delhi Fire: हादसे वाली इमारत में फिर लगी आग, कल 43 लोगों की गई थी जान

News18Hindi
Updated: December 9, 2019, 8:42 AM IST
Delhi Fire: हादसे वाली इमारत में फिर लगी आग, कल 43 लोगों की गई थी जान
हादसे वाली इमारत में एक बार फिर से आग लग गई है.

राष्ट्रीय राजधानी स्थित अनाज मंडी के हादसे वाली इमारत में 24 घंटे बाद एक बार फिर से आग लई है. इसी बिल्डिंग में रविवार की सुबह आग लगी थी. इस भीषण हादसे में 43 लोगों की जान चली गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 9, 2019, 8:42 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी स्थित अनाज मंडी के हादसे वाली इमारत में 24 घंटे बाद एक बार फिर से आग लई है. इसी बिल्डिंग में रविवार की सुबह आग लगी थी. इस भीषण हादसे में 43 लोगों की जान चली गई. पांच मंजिला इमारत के सबसे ऊपरी माले से घुआं निकलता हुआ दिख रहा है. बताया जा रहा है कि ऊपरी माले में प्लास्टिक का सामान रखा हुआ है. आग की सूचना मिलते दमकल की टीम मौके पर पहुंच गई है और इसे काबू करने में जुट गई है.




प्राप्त जानकारी के मुताबिक, दमकल की दो गाड़ियां आग पर काबू करने में जुटी हुई हैं. इमारत की सबसे ऊपरी माले पर फैक्ट्री का सबसे ज्यादा सामान रखा हुआ है. इस कारण घटना के 24 घंटे बीत जाने के बाद भी इस पर काबू नहीं पाया जा सका है. रविवार को लगी आग का असर आज भी देखा जा रहा है. मामले की गंभीरता को देखते हुए दमकल की टीम लगातार काम कर रही है. पानी का बौझार जारी है. एक बार आग लगने की सूचना पर लोग आसपास इकट्ठा हो गए हैं. प्रशासन के लोग किसी भी अनहोनी की आशंका को लेकर उन्हें घटना स्थल से दूर रहने के लिए कह रहे हैं.



फैक्ट्री में लगी थीं 12 से 15 मशीनें
रविवार सुबह दिल्ली के रानी झांसी रोड स्थित अनाज मंडी में भीषण आग लग गई. इस भीषण हादसे में 43 लोगों की मौत हो गई है और अभी भी कई घायलों का इलाज चल रहा है. फैक्ट्री के मालिक और मैनेजर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. बताया जा रहा है कि, जिस चार मंजिला इमारत में आग लगी है, वह यामीन नाम के शख्‍स की है. उसने बिल्डिंग को किराए पर दिया था. इसी बिल्डिंग में फैक्ट्री बनी हुई है. इसमें प्लास्टिक से बैग बनाने का काम किया जाता था. इस फैक्ट्री में 12 से 15 मशीनें लगी थीं.

सो रहे लोग जान बचाने के लिए भाग भी नहीं सके
बताया जा रहा है कि शॉर्ट सर्किट की वजह से दूसरी मंजिल के मुख्य दरवाजे के पास आग लगी थी. जिस समय आग लगी, उस वक्त मुख्य दरवाजे का शटर बंद था और लोग अंदर सो रहे थे. ऐसे में सो रहे लोग जान बचाने के लिए भाग भी नहीं सके. दम घुटने से 43 लोगों की मौत हो गई और कई लोग गंभीर रूप से झुलस गए.

ये भी पढ़ें-

Delhi Fire: MCD ने पिछले हफ्ते ही किया था मकान का सर्वेक्षण

Delhi Fire: फायरमैन राजेश शुक्ला ने फैक्ट्री में फंसे 11 लोगों की जान बचाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2019, 8:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर