अपना शहर चुनें

States

दिल्ली के Zoo में भी बर्ड फ्लू की एंट्री, पिंजरे में मृत मिले उल्लू में संक्रमण की पुष्टि

दिल्ली के जू में बर्ड फ्लू का पहला केस मिला है. (सांकेतिक तस्वीर)
दिल्ली के जू में बर्ड फ्लू का पहला केस मिला है. (सांकेतिक तस्वीर)

 दिल्ली (Delhi) के चिड़ियाघर (Zoo) में मृत मिले उल्लू में बर्ड फ्लू होने की पुष्टि हुई है.  चिड़ियाघर में ब्राउन फिश उल्लू (Owl) अपने पिंजरे में मृत मिला था. जांच में रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.

  • Share this:
दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) के चिड़ियाघर (Zoo) में मृत मिले उल्लू में बर्ड फ्लू होने की पुष्टि हुई है. चिड़ियाघर के निदेशक रमेश पांडेय ने शनिवार को बताया कि चिड़ियाघर में ब्राउन फिश उल्लू (Owl) अपने पिंजरे में मृत मिला था. उसके नमूनों को जांच के लिए दिल्ली सरकार के पशु पालन इकाई को भेजा गया था. उन्होंने बताया कि शुक्रवार को भोपाल स्थित आईसीएआर- राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशुरोग संस्थान में आरटी-पीसीआर पद्धति से जांच की गई जिसमें उसके एच5एन8 एवियन इनफ्लुएंजा से संक्रमित होने की पुष्टि हुई.

रमेश पांडेय ने बताया कि केंद्र एवं दिल्ली सरकार के नियमों एवं दिशानिर्देश के अनुसार चिड़ियाघर को रोगाणु मुक्त करने एवं निगरानी को बढ़ा दिया गया है. प्रबंधन की तरभ से हर संभव एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें: रूपेश सिंह हत्याकांड: सब्र खोते परिवार ने उठाई CBI जांच की मांग, पिता के लिए IAS बनना चाहती थी बेटी




चिड़ियाघर में बरती जा रही सावधानी

चिड़ियाघर के निदेशक रमेश पांडेय ने कहा कि पिंजरों में रखे गए पक्षियों को अलग कर दिया गया है. उनके स्वास्थ्य एवं व्यहार की लगातार निगरानी की जा रही है. चूना, विरकोन-एस, और सोडियम हाइफोक्लोराइट का छिड़काव किया जा रहा है. पक्षियों के पैरों को दिन में नियमित अंतराल पर पोटेशियम परमेगनेट से साफ किया जा रहा है.

चिड़ियाघर में जानवरों को खिलाने के लिए मुर्गियों को लाने पर रोक लगा दी गई है. चिड़ियाघर के भीतर वाहनों की आवाजाही की पहले ही मनाही है और कर्मचारियों की भी आवाजाही नियंत्रित है. उल्लेखनीय है कि सोमवार को भी राष्ट्रीय राजधानी के पार्कों एवं झीलों में मृत मिले कौए और बत्तखों के भी बर्ड फ्लू होने की पुष्टि हुई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज