• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Delhi Government: बच्चों को नशा मुक्त बनाने को खुला पहला वन स्टॉप सेंटर, मंत्री बोले-हर जिले में ऐसे सेंटर खाेलने की जरूरत

Delhi Government: बच्चों को नशा मुक्त बनाने को खुला पहला वन स्टॉप सेंटर, मंत्री बोले-हर जिले में ऐसे सेंटर खाेलने की जरूरत

मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम ने नशामुक्ति केंद्र वन स्टॉप सेंटर सूर्योदय का उद्घाटन किया.

मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम ने नशामुक्ति केंद्र वन स्टॉप सेंटर सूर्योदय का उद्घाटन किया.

Kejriwal Government: कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम ने नशामुक्ति केंद्र वन स्टॉप सेंटर सूर्योदय का उद्घाटन किया. सेंटर डिजिटल लाइब्रेरी से भी लैस है, जो छात्रों को मुफ्त ऑनलाइन कोचिंग और बौद्धिक उत्तेजना के लिए सक्षम करेगा.ऐसे सेंटर हमें दिल्ली के हर जिले में स्थापित करने चाहिए, तभी हम शहर में नशाखोरी की समस्या को रोक सकते हैं.

  • Share this:

    नई दिल्ली. दिल्ली के कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम (Rajendra Pal Gautam) ने कहा कि बच्चों में नशीली दवाओं के दुरुपयोग की समस्या बढ़ रही है. शिक्षा और जागरूकता की कमी बच्चों को मादक द्रव्यों के सेवन की ओर आकर्षित करती है. हमें ऐसे बच्चों को नशीली दवाओं के दुरुपयोग की समस्या से बाहर आने में मदद करने की आवश्यकता है.

    मंत्री गौतम ने कहा कि बच्चों को मादक द्रव्यों से दूर करने का एकमात्र तरीका इसके माध्यम से उनका पुनर्वास करना है. यह एक स्टॉप सेंटर लाभार्थियों को नशीली दवाओं का सेवन बंद करने और स्वस्थ जीवन जीने के लिए प्रोत्साहित करेगा.

    ये भी पढ़ें : COVID 19 in India: केंद्र सरकार का मुख्य सचिवों को आदेश, कहा-बेघरों, भिखारियों को लगाया जाए कोरोना टीका 

    दरअसल आज महिला एवं बाल विकास मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने आज नशामुक्ति केंद्र वन स्टॉप सेंटर (One Stop Centre) सूर्योदय का उद्घाटन किया. यह महिला एवं बाल विकास विभाग और दिल्ली हाईकोर्ट को जुवेनाइल जस्टिस कमेटी के मार्गदर्शन और समर्थन में एक अनूठी पहल है.

    इस वन स्टॉप सेंटर में ड्रग्स की समस्या से जूझ रहे लोगों के सम्पूर्ण विकास पर ज़ोर दिया जाएगा.वन स्टॉप सेंटर डिजिटल लाइब्रेरी से भी लैस है, जो छात्रों को मुफ्त ऑनलाइन कोचिंग और बौद्धिक उत्तेजना के लिए सक्षम करेगा. केंद्र लाभार्थियों को कौशल आधारित शिक्षा भी प्रदान करेगा.

    इस अवसर पर मंत्री ने यह भी कहा कि हमें दिल्ली के हर जिले में ऐसे वन स्टॉप सेंटर स्थापित करने चाहिए, तभी हम शहर में नशाखोरी की समस्या को रोक सकते हैं.

    इस केंद्र की विशेषता यह है कि यह न केवल नशे का सेवन करने वालो को, बल्कि उनके परिवारों के लिए भी बना है. यह उन परिवारों को आवश्यक मार्गदर्शन और परामर्श प्रदान करेगा, जिनके सदस्य नशे के शिकार हो गए हैं.

    इस पहल की उन लोगों ने सराहना की है, जिन्हें नशीली दवाओं के दुरुपयोग की समस्या से सफलतापूर्वक पुनर्वासित किया है. उन्होंने इस अवसर पर अपने अनुभवों को साझा किया.

    उद्घाटन समारोह दिल्ली उच्च न्यायालय (Delhi High Court) के न्यायमूर्ति राजीव शकधर और जेजेसी के अध्यक्ष द्वारा आयोजित किया गया था. इस दौरान दिल्ली उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति मुक्ता गुप्ता, न्यायमूर्ति अनु मल्होत्रा और जेजेसी के सदस्य समेत अन्य लोग मौजूद रहे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज