Home /News /delhi-ncr /

दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से आज रवाना होगी पहली 'रामायण सर्किट ट्रेन', अयोध्या समेत इन स्‍थानों के होंगे दर्शन

दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से आज रवाना होगी पहली 'रामायण सर्किट ट्रेन', अयोध्या समेत इन स्‍थानों के होंगे दर्शन

रामायण सर्किट ट्रेन 17 दिनों में भगवान श्री राम के जीवन से जुड़े स्‍थलों की यात्रा कराएगी.

रामायण सर्किट ट्रेन 17 दिनों में भगवान श्री राम के जीवन से जुड़े स्‍थलों की यात्रा कराएगी.

Ramayana Circuit Train: पहली रामायण सर्किट आज दिल्‍ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से रवाना होगी. यह ट्रेन 17 दिनों की यात्रा में 7500 किमी की दूरी तय करेगी और इस दौरान भगवान श्री राम के जीवन से जुड़े स्‍थलों अयोध्या, सीतामढ़ी, चित्रकूट, काशी, नेपाल स्थित राम जानकी मंदिर और रामेश्वरम समेत कई जगह जाएगी. इस यात्रा के लिए एसी फर्स्ट क्लास की बुकिंग 1,02,095 रुपये और सेकंड क्लास में 82,950 रुपये में हुई है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. भगवान श्री राम (Lord Ram) के जीवन से जुडे़ कई प्रमुख धार्मिक स्‍थलों के दर्शन के लिए भारतीय रेलवे द्वारा रामायण सर्किट ट्रेन (Ramayana Circuit Train) चलाने का ऐलान किया गया था. वहीं, आज दिल्‍ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन पहली ट्रेन रवाना होगी. इस दौरान यह अपनी 17 दिनों की यात्रा में अयोध्या, सीतामढ़ी और चित्रकूट सहित कई प्रमुख स्‍थानों पर जाएगी.

    आज यानी 7 नवंबर को पहली रामायण सर्किट ट्रेन रवाना होगी. इस ट्रेन की शेड्यूलिंग काफी पहले हो चुकी है. इस ट्रेन की पहले ही बुकिंग फुल हो चुकी है और लगातार इस तरह की ट्रेन की मांग श्रद्धालुओं के तरफ से की जा रही है. वहीं, आईआरसीटीसी ने इस ट्रेन के अलावा 4 और रामायण सर्किट ट्रेन चलाने का ऐलान किया है. अब 16 नवंबर को दूसरी ट्रेन, 25 नवंबर को तीसरी ट्रेन, 27 नवंबर चौथी और 20 जनवरी से पांचवीं ट्रेन चलाई जाएगी.

    क्या है रामायण सर्किट ट्रेन
    रामायण सर्किट ट्रेन के जरिए भगवान राम से जुड़े धार्मिक स्थलों के दर्शन कराए जाएंगे. इस ट्रेन से 7500 किमी की यात्रा 17 दिन में पूरी होगी. यात्रा का पहला पड़ाव अयोध्या होगा, जहां श्रीराम जन्मभूमि मंदिर, श्रीहनुमान मंदिर के दर्शन कराए जाएंगे. अयोध्या से ये ट्रेन सीतामढ़ी जाएगी, जहां जानकी जन्म स्थान और नेपाल स्थित राम जानकी मंदिर के दर्शन होंगे.

    जबकि ट्रेन का अगला पड़ाव भगवान शिव की नगरी काशी होगा. फिर चित्रकूट और वहां से नासिक पहुंचेगी. नासिक के बाद प्राचीन किष्किन्धा नगरी हम्पी अगला पड़ाव होगा, जहां अंजनी पर्वत स्थित हनुमान जन्मस्थल के दर्शन कराए जाएंगे. इस ट्रेन का आखिरी पड़ाव रामेश्वरम होगा. रामेश्वरम से चलकर ये ट्रेन 17वें दिन दिल्ली वापस पहुंचेगी. इस यात्रा के लिए एसी फर्स्ट क्लास की बुकिंग 1,02,095 रुपये और सेकंड क्लास में 82,950 रुपये में हुई है.

    Indian Railways, Ramayana Circuit train, Ayodhya, Sitamarhi, Chitrakoot, Lord Ram, भारतीय रेलवे, भगवान श्री राम, रामायण सर्किट ट्रेन

    रामायण सर्किट ट्रेन का आखिरी पड़ाव रामेश्वरम होगा.

    रामायण सर्किट ट्रेन की ये है खासियत
    अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस इस एसी पर्यटक ट्रेन में यात्री कोच के अतिरिक्त दो रेल डाइनिंग रेस्तरां, एक आधुनिक किचन कार और यात्रियों के लिए फुट मसाजर, मिनी लाइब्रेरी, आधुनिक स्वच्छ शौचालय और शॉवर क्यूबिकल आदि की सुविधा भी उपलब्ध है. साथ ही सुरक्षा के लिए सुरक्षा गार्ड, इलेक्ट्रॉनिक लॉकर और सीसीटीवी कैमरे भी हर कोच में उपलब्ध रहेंगे. यात्रा की पूरी अवधि के दौरान आईआरसीटीसी की टीम स्वच्छता एवं स्वास्थ्य संबंधी सभी प्रोटोकॉल का ध्यान रखेगी. सभी पर्यटकों को फेस मास्क, हैंड ग्लव्स और सैनिटाइजर रखने के लिए एक सुरक्षा किट दी जाएगी. सभी पर्यटकों और कर्मचारियों का तापमान जांच और हॉल्ट स्टेशनों पर बार-बार ट्रेन सैनिटाइजेशन सुनिश्चित किया जाएगा. हर भोजन सेवा के बाद रसोई और रेस्तरां को साफ और सैनिटाइज किया जाएगा.

    Tags: Ayodhya ram mandir, Chitrakoot News, Indian Railways, Indo-Nepal Border, Lord Ram, Ramayana, सीतामढ़ी

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर