राशन दुकानों का औचक निरीक्षण करने पहुंचे मंत्री, कई दुकानें मिली बंद, बोले-सुधर जाओ, वरना होगी कार्रवाई

खाद्य मंत्री ने चेतावनी दी कि ऐसे सभी राशन डीलरों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी जो नियमित रूप से दुकानें नहीं खोलते हैं.

खाद्य मंत्री ने चेतावनी दी कि ऐसे सभी राशन डीलरों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी जो नियमित रूप से दुकानें नहीं खोलते हैं.

खाद्य मंत्री ने चेतावनी दी कि ऐसे सभी राशन डीलरों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी जो नियमित रूप से दुकानें नहीं खोलते हैं या जो अवैध रूप से खाद्यान्न एकत्र करते हैं या जो निर्धारित मात्रा से कम राशन वितरित करते हैं या जमाखोरी, कालाबाजारी, राशन का कम वितरण, लाभार्थियों के साथ दुर्व्यवहार आदि अन्य कदाचार में लिप्त हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने कोविड-19 (COVID-19) के प्रसार को रोकने के लिए दिल्ली में लगाए गए लॉकडाउन (Lockdown) के मद्देनजर मई और जून माह के लिए NFS लाभार्थियों को फ्री राशन उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है.  लेकिन कई जगहों पर राशन की दुकानों के नहीं खुलने और राशन डीलरों (Ration Dealer) की गड़बड़ी की शिकायतें लगातार मिल रही हैं.

दिल्ली के खाद्य और नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों (Food & Civil Supplies Affairs) के मंत्री इमरान हुसैन (Imran Hussain) ने मुस्तफाबाद क्षेत्र में राशन की दुकानों (एफपीएस) का औचक निरीक्षण किया. कुछ शिकायतें थीं कि क्षेत्र के कुछ एफपीएस डीलर नियमित रूप से और समय पर राशन की दुकानें नहीं खोल रहे हैं. वे अन्य गड़बड़ियों में भी लिप्त हैं.

निरीक्षण के दौरान मुस्तफाबाद के विधायक हाजी यूनुस, खाद्य विभाग के सहायक आयुक्त और खाद्य इंस्पेक्टर भी मंत्री के साथ थे.

निरीक्षण के दौरान, खाद्य मंत्री ने दो राशन दुकानों को बंद पाया. एफपीएस डीलरों ने दुकान तभी खोली जब उन्हें मंत्री के साथ गई प्रवर्तन टीम द्वारा मौके पर बुलाया गया. मंत्री ने एफपीएस डीलरों को बिना किसी साप्ताहिक अवकाश के रोजाना सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे और शाम 3 बजे से शाम 7 बजे तक एफपीएस खोलने के संबंध में खाद्य विभाग के निर्देशों का पालन करने का निर्देश दिया. उन्होंने एफपीएस डीलरों को चेतावनी भी दी कि विभाग के निर्देशों का पालन नहीं करने पर उनके खिलाफ सख्त क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी.
खाद्य मंत्री के साथ गए एफ एंड एस विभाग की टीम ने एक अन्य एफपीएस डीलर द्वारा स्टॉक और निर्धारित रिकॉर्ड के रखरखाव में कुछ अनियमितताएं पाईं. खाद्य विभाग की टीम द्वारा निर्देशित किए जाने पर FPS डीलर प्रासंगिक रिकॉर्ड प्रस्तुत नहीं कर सका.

इमरान हुसैन ने मामले को गंभीरता से लिया और निरीक्षण दल को निर्देश दिया कि यदि आवश्यक हो तो रिकॉर्ड को जब्त करने सहित एफपीएस डीलर के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए.

उन्होंने खाद्य एवं आपूर्ति आयुक्त को एफपीएस डीलर के खिलाफ विभाग की निरीक्षण टीम द्वारा की गई कार्रवाई पर रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया.



मंत्री ने यह भी बताया कि यदि लाभार्थी को उपरोक्त दोनों राशन (NFSA और PMGKAY) एक बार मे नहीं मिलता है, तो वह दोबारा राशन दुकान पर आकर बचा हुआ राशन अवश्य प्राप्त कर लें, एफपीएस डीलर शेष राशन के वितरण से इनकार नहीं करेंगे.

खाद्य मंत्री ने चेतावनी दी कि ऐसे सभी राशन डीलरों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी जो नियमित रूप से दुकानें नहीं खोलते हैं या जो अवैध रूप से खाद्यान्न एकत्र करते हैं या जो निर्धारित मात्रा से कम राशन वितरित करते हैं या जमाखोरी, कालाबाजारी, राशन का कम वितरण, लाभार्थियों के साथ दुर्व्यवहार आदि अन्य कदाचार में लिप्त हैं.

इमरान ने बताया कि वो आने वाले दिनों में दिल्ली के अन्य इलाकों में और भी राशन की दुकानों का औचक निरीक्षण करेंगे. विधायक और सतर्कता समिति के सदस्य भी अपने-अपने क्षेत्रों में इस तरह का निरीक्षण कर रहे हैं. उन्होंने खाद्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को एफपीएस का निरीक्षण करने, दोषी एफपीएस डीलरों के खिलाफ कार्रवाई करने और  की गई कार्रवाई की रिपोर्ट प्रस्तुत करने का भी निर्देश दिया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज