Home /News /delhi-ncr /

Doctors Strike: दिल्‍ली के कई अस्पतालों में आज OPD रहेगी बंद, हड़ताल पर गए रेजिडेंट्स डॉक्टर्स

Doctors Strike: दिल्‍ली के कई अस्पतालों में आज OPD रहेगी बंद, हड़ताल पर गए रेजिडेंट्स डॉक्टर्स

देशभर के रेजिडेंट्स डॉक्टर्स हड़ताल पर चले गए हैं.

देशभर के रेजिडेंट्स डॉक्टर्स हड़ताल पर चले गए हैं.

Doctors Strike: नीट पीजी काउंसलिंग में देरी को लेकर आज देशभर के अस्पतालों में ओपीडी सेवाएं बंद रहेंगी. इसमें दिल्‍ली के तीन अस्‍पताल भी शामिल हैं. इस हड़ताल में दिल्ली के साथ-साथ कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात समेत अन्य कई राज्यों ने डॉक्टर शामिल हैं. इसमें दिल्‍ली के आरएमएल अस्पताल, सफदरजंग अस्पताल और लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज के रेसिडेंट डॉक्टर शामिल हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. नीट पीजी (NEET PG 2021) काउंसलिंग में देरी को लेकर आज देशभर के डॉक्‍टरों के तमाम संगठनों ने हड़ताल का ऐलान कर दिया है. फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (FORDA) ने 27 नवंबर यानी शनिवार से देशभर में हड़ताल की अपील की है. इस वजह से देशभर के अस्‍पतालों के साथ दिल्‍ली के भी तीन अस्पतालों में OPD सेवाएं बंद रहेंगी.

    इस हड़ताल में दिल्ली के साथ-साथ कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात समेत अन्य कई राज्यों ने डॉक्टर शामिल हैं. जबकि सभी ने आज ओपीडी में मरीजों का इलाज नहीं करने की बात की है. दिल्‍ली के आरएमएल अस्पताल, सफदरजंग अस्पताल और लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज के रेसिडेंट डॉक्टर भी शामिल हैं. इस दौरान सिर्फ जूनियर और सीनियर रेसिडेंट डॉक्टर ही ओपीडी सर्विस में नहीं आएंगे, बाकी सभी जगह वार्ड और इमरजेंसी में काम पर जाएंगे. जबकि इस हड़ताल से मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज के रेजिडेंट डॉक्‍टर्स एसोसिएशन ने भी जुड़ने का फैसला किया है. जानकारी के मुताबिक, रेजिडेंट डॉक्‍टर सुबह 9 बजे से 11 बजे तक सांकेतिक रूप से हड़ताल पर रहेंगे. इस दौरान सभी एमडी ऑफिस के सामने जुटेंगे.

    जानें क्‍या है मामला?
    नीट पीज काउंसलिंग में देरी की वजह से आज पूरे देश मे 10 हजार से ज्यादा रेजिडेंट डॉक्टर हड़ताल पर रहेंगे. वहीं, फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ मनीष ने बताया कि गुरुवार को हमने मीटिंग की थी जिसमें सारे आरडीए जुड़े थे. हमने तय किया कि हम ओपीडी सर्विस बंद करेंगे, लेकिन ये सब कब तक चलेगा हमें नहीं पता. ये अनिश्चितकालीन है. जब तक कोई समाधान नहीं निकलता, तब तक यह सब चलता रहेगा.

    इसके अलावा फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (FORDA) की ओर से कहा गया है कि हम मामले में सुप्रीम कोर्ट की ओर से मिले सकारात्मक परिणामों के लिए इंतजार कर रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट नीट परीक्षा में ओबीसी के लिए 27 फीसदी और ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लिए 10 फीसदी आरक्षण प्रदान करने वाले केंद्र और मेडिकल काउंसिलिंग समिति (एमसीसी) की अधिसूचनाओं के खिलाफ याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा है. हालांकि केंद्र ने 25 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि उसने ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लिए 8 लाख रुपये की वार्षिक आय सीमा पर फिर से विचार करने का फैसला किया है. इस वजह से केंद्र ने चार हफ्तों के लिए नीट काउंसलिंग टाल दी है.

    वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया को लिखे पत्र में फोरडा ने कहा कि पहले से काम का अत्यधिक बोझ झेल रहे देश के रेजीडेंट डॉक्टर्स कोविड-19 महामारी फैलने के बाद से अग्रिम मोर्चे पर लड़ रहे हैं और उन्होंने नीट-पीजी काउंसिलिंग को लेकर उच्चतम न्यायालय में चल रही सुनवाई का कुछ सकारात्मक नतीजा आने की उम्मीद में 25 नवंबर तक धैर्यपूर्वक इंतजार किया. फोरडा ने कहा, ‘बहरहाल, उनको शारीरिक और मानसिक कष्टों से कोई राहत मिलती नहीं दिख रही है और अदालत की अगली सुनवाई 6 जनवरी 2022 को होगी.

    Tags: Delhi Doctors, Doctors strike, Junior Doctors Strike, RML Hospital, Safdarjung Hospital

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर