हरियाणा के गांवों के लोगों से पूर्व सीएम हुड्डा की अपील, जरूरी होने पर ही शहर जाएं, क्‍योंकि...

पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रदेश के लोगों से अपील की है कि वह जरूरत हो तो ही शहरों की आवाजाही करें.

पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रदेश के लोगों से अपील की है कि वह जरूरत हो तो ही शहरों की आवाजाही करें.

COVID 19 in Haryana: पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा ने आम जनता से अपील की कि कोरोना संक्रमण से जो गांव अभी तक बचे हुए हैं वो खास तौर पर सतर्कता बरतें. साथ ही गांव से शहर की तरफ आवाजाही न रखें या कम से कम रखें. पिछली बार की तरह अपने-अपने गांवों में ठीकरी पहरा लगाएं.

  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा में कोरोना (Corona) से बिगड़े हालातों पर पूर्व मुख्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष चौधरी भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने भाजपा सरकार (BJP Government) पर निशाना साधा है. साथ ही प्रदेश में अस्पतालों में बेड, ऑक्सीजन और दवाइयों की भारी किल्लत होने से कोरोना का प्रसार और तेज होता जा रहा है. ऐसे में प्रदेश के लोगों से अपील की है कि वह जरूरत हो तो ही शहरों की आवाजाही करें.

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष चौ. भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupinder Singh Hooda) ने कहा कि हरियाणा में हॉस्पिटल बेड, ऑक्सीजन और दवाईयों की घोर किल्लत से कोरोना बहुत तेजी से फैलता जा रहा है. सरकार कोरोना रोगियों के लिये हॉस्पिटल में बेड, ऑक्सीजन और दवाईयों आदि को मुहैया करा पाने में पूरी तरह से विफल रही है.

उन्होंने प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी से हो रही मौतों पर गहरा दुःख प्रकट करते हुए कहा कि लगभग हर रोज़ हरियाणा में कहीं न कहीं से ऑक्सीजन की कमी के चलते अस्पतालों में भर्ती मरीजों के दम तोड़ने की दर्दनाक ख़बरें सामने आ रही हैं.

सरकार मीडिया में ऑक्सीजन की कमी न होने का दावा करती है तो हाईकोर्ट में ऑक्सीजन की कमी होने की बात मानती है. ये दोहरी बयानबाजी क्यों कर रही है सरकार? लोग सड़कों पर ऑक्सीजन के खाली सिलेंडर लेकर भटकने को मजबूर हैं, जो सरकार की घोर अव्यवस्था का जीता जागता सबूत है.
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सरकार लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान सरकार हाथ पर हाथ धरे न बैठे अपितु मरीजों के लिये अस्पतालों में बेड, ऑक्सीजन, दवाईयों आदि जितने भी संसाधनों की कमी है. उनकी उपलब्धता सुनिश्चित कराए। बेड, ऑक्सीजन, दवाईयों आदि की कमी से एक भी नागरिक की जान जाए ये अस्वीकार्य है.

उन्होंने कहा कि हम इस संकट से निपटने के लिये प्रतिपक्ष के तौर पर हर तरह से सरकार का सहयोग करने के लिये तैयार हैं. हमारा मानना है कि ये समय राजनीति से ऊपर उठकर और एकजुट होकर कोरोना से लड़ाई लड़ने का है.

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा ने आम जनता से अपील की कि वो जब तक बहुत जरुरी न हो अपने घर से न निकलें. जो लोग गांवों में रह रहे हैं, वो बहुत जरुरी हो तभी शहर की तरफ आवाजाही करें.



इसके अलावा, कोरोना संक्रमण से जो गांव अभी तक बचे हुए हैं वो खास तौर पर सतर्कता बरतें और गांव से शहर की तरफ आवाजाही न रखें या कम से कम रखें और पिछली बार की तरह अपने-अपने गांवों में ठीकरी पहरा लगाएं.

उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना से इस बड़ी लड़ाई में हर व्यक्ति अपनी जिम्मेदारी को समझे, पूरी सावधानी बरतें और एक जिम्मेदार नागरिक की तरह कोरोना के फैलाव पर रोक लगाए.

पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा ने कहा कि मौजूदा बेकाबू हालत को देखते हुए सभी को संयम दिखाना होगा. शादी-ब्याह और मृत्यु पर भीड़ के रूप में अधिक लोगों को इकठ्ठा होने से बचना चाहिए. परिवार के लोग प्रतीकात्मक रूप से इन रिवाजों को निभाने का फैसला लें और प्रशासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों की पालना करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज