Delhi Violence: ताहिर हुसैन की मिली लोकेशन, एक मार्च को जाकिर नगर में था मौजूद

गौरतलब है कि इससे पहले ताहिर हुसैन ने आईबी के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या के मामले में खुद को निर्दोष बताया था. (फाइल फोटो)
गौरतलब है कि इससे पहले ताहिर हुसैन ने आईबी के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या के मामले में खुद को निर्दोष बताया था. (फाइल फोटो)

एक मार्च को ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) के मोबाइल फोन की लोकेशन जाकिर नगर में मिली थी. उसकी लास्ट लोकेशन गली नंबर 20 की थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) के आरोपी और आम आदमी पार्टी के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है. कहा जा रहा है कि ताहिर हुसैन एक मार्च की सुबह दिल्ली के जाकिर नगर (Zakir Nagar) में मौजूद था. उस दिन उसके मोबाइल फोन की लोकेशन जाकिर नगर में मिली थी. उसकी लास्ट लोकेशन गली नंबर 20 की थी. वह दो फोन इस्तेमाल कर रहा था. दोनों नम्बर एक मार्च के बाद से बन्द हैं.

इससे पहले खबर आई थी कि कड़कड़डुमा कोर्ट (Karkardooma Court) में ताहिर हुसैन खिलाफ नारेबाजी की गई है. ताहिर हुसैन के वकील ने पुलिस पर एकतरफा मामले की जांच करने का आरोप लगाया था. वकील का कहना था कि दिल्ली पुलिस मेरा बयान दर्ज नहीं कर रही है. दरअसल, पार्षद ताहिर हुसैन ने दिल्‍ली की एक अदालत में अग्रिम जमानत की अर्जी लगाई है, जिस पर बुधवार को सुनवाई होगी.

गौरतलब है कि इससे पहले ताहिर हुसैन ने आईबी के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या के मामले में खुद को निर्दोष बताया था. न्यूज़ 18 के साथ बातचीत में उन्होंने कहा था कि वीडियो (Video) को गलत रूप में पेश किया गया है. जबकि अंकित शर्मा हत्याकांड में मेरा कोई हाथ नहीं है.



मुझे सबसे बड़ा डर था कि कोई मेरे परिवार को कुछ न कर दे
न्यूज़ 18 इंडिया के साथ बातचीत में तारिख हुसैन ने कहा था, 'सोशल मीडिया पर जो वीडियो चल रहा है, उसमें मैंने सिर्फ उन लोगों के लिए डंडा उठाया था, जो मेरे घर की छत पर चढ़ने की कोशिश कर रहे थे.' उन्होंने यह भी कहा था कि मुझे सबसे बड़ा डर था कि कोई मेरे परिवार को कुछ न कर दे. पीछे हिंदू समाज के भी लोग रहते हैं तो मैं उनके लिए भी चिंतित था. उनका कहना था कि आप वीडियो में देख सकते हैं कि कुछ लोग नीचे की ओर जा रहे हैं, उन्हें मैंने ही भगाया. उनको भगाने के लिए मैंने डंडा उठाया था.'

एसीपी सिंगला ने कहा- हमने बचाया था ताहिर को
वहीं, दिल्ली पुलिस के एसीपी अजीत कुमार सिंगला ने मंगलवार को कहा कि घटना की जांच के दौरान आरोपी आप पार्षद ताहिर की भी बात सुनी जाएगी. सिंगला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि 24 की रात में हमने पार्षद ताहिर को बचाया था. उन्होंने हमें फोन किया था तब हम टीम लेकर गए थे. जो एफआईआर की गई है, इसको भी जांच के दौरान देखा जाएगा.

ये भी पढ़ें- 

पति को सताया कोरोना वायरस का डर, पत्नि को ही बंद कर दिया बाथरूम में

क्या विटामिन C कोरोना से लड़ने में कारगर साबित हो सकता है, चीन कर रहा प्रयोग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज