अब किसान 15 दिन तक Fresh रख सकेंगे फल, फूल और सब्जी, ICAR ने इजात किया ये नायाब तरीका

भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान एक खास कोल्ड स्टोरेज तैयार किया है.

भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान एक खास कोल्ड स्टोरेज तैयार किया है.

भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (Indian Agricultural Research Institute) दिल्ली के वैज्ञानिकों ने एक ऐसा कोल्ड स्टोरेज तैयार किया है जो सोलर एनर्जी से काम करता है. वैज्ञानिकों का दावा है कि इसके इस्तेमाल से किसान फल और सब्जियों को 15 दिन तक सुरक्षित रख सकते हैं. 

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2021, 11:25 PM IST
  • Share this:
 दिल्ली. भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (Indian Agricultural Research Institute) दिल्ली के वैज्ञानिकों ने किसानों की उस समस्या का समाधान निकाल लिया है जिसकी वजह से उनकी सब्जियां, फल और फूल अक्सर खराब हो जाते हैं. दरअसल, वैज्ञानिकों ने एक ऐसा कोल्ड स्टोरेज (Cold Storage) तैयार किया है जो सोलर एनर्जी से काम करता है. पूसा के वैज्ञानिकों ने इसे पूसा फार्म सनफ्रिज नाम दिया है. इसके लिए थर्माकॉल और पेपर से बना एक स्टोर रूम तैयार किया गया है, जिसकी छत पर सोलर पैनल लगे हुए है. इसकी मदद से इसमें 5 किलोवाट तक की बिजली जनरेट की जा सकती है.

स्टोरेज के अंदर एक डेढ़ टन का एयरकंडीशनर ( AC ) लगाया हुआ है जो सोलर एनर्जी से चलता है. दिन के वक्त ये AC स्टोर रूम के अंदर का तापमान 4 से 5 डिग्री के बीच तक नियंत्रित रखता है. इस दौरान यही AC एक कोने पर स्टोर किए गए पानी को भी दिन भर ठंडा करता रहता है. इसका फ़ायदा ये है कि रात के वक्त जब सोलर पैनल से बिजली नहीं मिल पाती तब ये ठंडा पानी जिसे पंप के जरिए इसकी छत पर लगी पाइपलाइन में स्टोर किया गया था वो कमरे की ठंडक को 8 से 10 डिग्री सेल्सियस के बीच बरकरार रखता है यानी दिन के वक्त सौर ऊर्जा से ये काम करता है, जबकि रात में ठंडे पानी की मदद से ये स्टोर की गयी सब्ज़ियों और फलों को सुरक्षित रखता है.

वैज्ञानिकों का दावा

वैज्ञानिकों ने बताया कि इस स्टोरेज की क्षमता फ़िलहाल 2 टन की है. 5 साल की वैज्ञानिकों की कड़ी मेहनत के बाद ये प्रोजेक्ट तैयार किया गया है. वैज्ञानिकों की मानें तो इसकी मदद से किसान अब अपनी सब्जियों और फलों को करीबन 10 से 15 दिनों तक सुरक्षित रख सकते है. ऐसे में ये सनफ्रिज किसानों के लिए बहुत मददगार साबित हो सकता है. फिलहाल परीक्षण के तौर पर तीन जगहों पर ये फ्रिज बनाए गए है.
ये भी पढ़ें: UP: सांसद आजम खान को मिली बंदूक बेचने की इजाजत, रामपुर जेल पहुंचा अनुमति पत्र

एक राजस्थान के अजमेर जिला स्थित पिचौलिया में, दूसरा हरियाणा पानीपत के एक गांव में और तीसरा भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान दिल्ली में. तीनों ही जगह जो फ्रिज बनाए गए वो अब तक परीक्षण में पूरी तरह सफल साबित हुए है. इसका निर्माण करने वाले वैज्ञानिकों का कहना है कि इसे बनाने में क़रीबन साढ़े पांच लाख तक का खर्चा आया है. हालांकि इसकी फाइनल कीमत क्या रहेगी ये बाद में तय किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज