Home /News /delhi-ncr /

गाजियाबाद: 25वीं मंजिल से गिरने वाले जुड़वा भाइयों का अंतिम संस्‍कार आज, चांद देखने को जगे थे रात तक, जानें पुलिस रिपोर्ट

गाजियाबाद: 25वीं मंजिल से गिरने वाले जुड़वा भाइयों का अंतिम संस्‍कार आज, चांद देखने को जगे थे रात तक, जानें पुलिस रिपोर्ट

सिद्धार्थ विहार की इसी सोसाइटी में हुआ है हादसा.

सिद्धार्थ विहार की इसी सोसाइटी में हुआ है हादसा.

Twin Brothers Died in Ghaziabad: सिद्धार्थ विहार की Prateek Grand Society की 25 वीं मंजिल से गिरने वाले Twin Brothers का आज गाजियाबाद के हिंडन श्‍मशान घाट में अंतिम संस्‍कार किया जा रहा है. पुलिस की शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि चांद देखने की वजह से दोनों बालकनी से गिरे हैं.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. सिद्धार्थ विहार (Siddharth Vihar) गाजियाबाद की प्रतीक ग्रांड सोसायटी (Prateek Grand Society) की 25 वीं मंजिल से गिरने वाले जुड़वा भाइयों (Twin Brothers) का आज गाजियाबाद के हिंडन श्‍मशान घाट में अंतिम संस्‍कार किया जा रहा है. घटना के बाद पूरी सोसायटी का माहौल गमगीन है. पीडि़त परिवार चार माह पहले ही यहां पर शिफ्ट हुआ था. पुलिस के अनुसार शुरुआती जांच में गिरने का कारण चांद देखने के लिए स्‍टूल पर चढ़ना प्रतीत हो रहा है. हालांकि यह बात अभी तक पता नहीं चल पाई कि दोनों भाई एक साथ गिरे या फिर पहले एक भाई गिरा, बचाने के चक्‍कर में दूसरा भाई भी गिर गया है.

    गाजियाबाद के एसपी सिटी निपुण अग्रवाल ने बताया कि प्रतीक ग्रांड सोसायटी के फ्लैट नंबर 2508 में रहने वाले टीएस पलानी मदुरई के जुड़वां बेटे सत्‍यनारायण और सूर्यनारायण की मौत का कारण शुरुआती जांच में चांद देखने के लिए स्‍टूड पर चढ़ना प्रतीत हो रहा है. बच्‍चों की मां ने बताया कि सामान्‍य तौर रात 12 बजे तक बच्‍चे सो जाते थे, लेकिन चांद देखने की वजह से शायद रात में जल्‍दी सोए नहीं. मां के डांटने के बाद कमरे में आए और मां के सोने के बाद दोबारा से बालकनी में चले गए. चूंकि टावर के सामने दूसरा टावर है, इसलिए देर रात में चांद बालकनी से दिखता है. दोनों बच्‍चे रात तक जगकर चांद का बालकनी में दिखने का इंतजार करते रहे. नींद न आए इसके लिए मोबाइल में गेम खेलते रहे. कुर्सी में स्‍टूल रखकर चांद देखने के दौरान हादसा होने की पूरी संभावना है.

    विजय नगर थाना प्रभारी योगेन्‍द्र मलिक ने बताया कि दोनों बच्‍चों का पोस्‍टमार्टम रविवार शाम तक हो गया था और बॉडी परिजनों को सौंप दी गई थी. परिजनों की इच्‍छा थी कि बॉडी को घर ले जाएं इसलिए रविवार शाम को घर ले गए. सोमवार को दोपहर में अंतिम संस्‍कार किया जा रहा है. पुलिस के अनुसार परिवार चार माह पहले ही यहां आया था. 4000 फ्लैटों वाली सोसायटी में केवल 250 परिवार ही रहते हैं. ज्‍यादातर फ्लैट खाली पडे हैं. इसलिए परिवार को ज्‍यादा लोगों से मेल मिलाप नहीं था.

    Tags: Child death, Ghaziabad News

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर