सेक्सस्टाॅर्शन के जाल में फंसाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 200 लोगों से कर चुका वसूली, मास्टरमाइंड गिरफ्तार

अपराध शाखा ने सोशल मीडिया पर खूबसूरत लड़कियों का फर्जी प्रोफाइल बनाकर लोगों से वसूली करने वाले गिरोह के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर लिया है.

Delhi Crime: अपराध शाखा ने सोशल मीडिया पर खूबसूरत लड़कियों का फर्जी प्रोफाइल बनाकर लोगों से वसूली करने वाले गिरोह के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर लिया है. इस गिरोह के तार मेवात से जुड़े हैं. आरोपी की पहचान 23 साल के बरकत अली के रूप में हुई है. गिरोह दिल्ली समेत देश भर के 200 से अधिक लोगों को सेक्सस्टाॅर्शन की जाल में फांस चुका है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की अपराध शाखा (Crime Branch) ने सोशल मीडिया पर खूबसूरत लड़कियों का फर्जी प्रोफाइल (Fake Profile) बनाकर लोगों से वसूली करने वाले गिरोह के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर लिया है. इस गिरोह के तार मेवात से जुड़े हैं. आरोपी की पहचान 23 साल के बरकत अली के रूप में हुई है.

    पूछताछ में पता चला है कि गिरोह दिल्ली समेत देश भर के 200 से अधिक लोगों को सेक्सस्टाॅर्शन की जाल में फांस चुका है. आरोपी लोगों को अश्लील वीडियो बना लेते थे और फिर उसे वायरल करने के नाम पर लोगों के रुपए वसूलते थे.

    ये भी पढ़ें : क्रेडिट कार्ड सर्विस प्रोवाइडर के नाम पर चला रहे थे फर्जी कॉल सेंटर, ठगी के गोरखधंधे का भंडाफोड़

    अपराध शाखा के संयुक्त आयुक्त बीके सिंह ने बताया कि बीते दिनों इस संबंध में कई शिकायतें मिली थीं. पीड़ित सोशल मीडिया पर खूबसूरत लड़कियों की फ्रेंड रिक्वेस्ट देखकर इसमें फंसे थे. आरोपी लोगों को अश्लील वीडियो भेजते थे और दूसरे लोग उनकों उकसाने का काम करते थे. गिरोह के अन्य सदस्य इस दौरान लोगों का वीडियो बना लेते थे.

    अधिकारी ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस की एक टीम गठित की गई. टीम को तकनीकि सर्विलांस की मदद से पता चला कि गिरोह मेवात, हरियाणा में सक्रिय है. सूचना के आधार पुलिस ने मेवात से बरकत अली को गिरफ्तार कर लिया. वह हरियाणा पलवल का रहने वाला है.

    ये भी पढ़ें : Delhi Crime: नकली पुलिस अधिकारी बनकर लोगों को ठगता था सुरक्षा गार्ड, अब चढ़ा पुलिस के हत्थे

    आरोपी ने बताया कि वे फेसबुक, व्हॉट्सएप, टेलीग्राम, टिंडर आदि सोशल मीडिया पर खूबसूरत लड़कियों की फोटो के साथ फर्जी प्रोफाइल बनाकर लोगों को जाल में फंसाते थे. वह जाल में फंसे व्यक्ति से 15 से 20 हजार वसूलते थे. ताकि लोग आसानी से इतनी रकम दे दें और पुलिस के पास भी न जाएं.

    पूछताछ में पुलिस टीम को यह भी पता चला है कि कई हाई प्रोफाइल परिवार से संबंध रखने वाले लोग भी इस गिरोह का शिकार बन चुके हैं. लेकिन वह शर्म की वजह से सामने नहीं आए.

    आरोपी बरकत का पहले भी आपराधिक रिकॉर्ड रहा है. वह मैसूर में एक बैंक के एटीएम (ATM) को तोड़कर 12 लाख 86 हजार रुपए की लूट में शामिल था. पकड़े जाने पर जेल गया. जेल से बाहर आने के बाद आरोपी ने एक गिरोह बना लिया और फिर इस प्रकार की घटना को अंजाम देने लगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.