Home /News /delhi-ncr /

Delhi-NCR को ऐसे मिलेगा गंगा एक्सप्रेसवे से फायदा, जानिए प्लान

Delhi-NCR को ऐसे मिलेगा गंगा एक्सप्रेसवे से फायदा, जानिए प्लान

यमुना एक्सप्रेसवे और जेवर एयरपोर्ट के पास बसाए जा रहे इंडस्ट्रियल और कमर्शियल एरिया को गंगा एक्‍सप्रेसवे का बड़ा फायदा होगा. (प्रतीकात्मक फोटो)

यमुना एक्सप्रेसवे और जेवर एयरपोर्ट के पास बसाए जा रहे इंडस्ट्रियल और कमर्शियल एरिया को गंगा एक्‍सप्रेसवे का बड़ा फायदा होगा. (प्रतीकात्मक फोटो)

Ganga Expressway: दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में कई ऐसे बड़े प्रोजेक्ट हैं जो नोएडा और उससे सटे इलाकों में शुरू हो गए हैं. जैसे जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport), दिल्ली-मुम्बई रेल कॉरिडोर, गौतमबुद्ध नगर और बुलंदशहर के 80 गांवों में बसने वाला नया नोएडा शहर, यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे राया, टप्पल और आगरा में नया शहर बसाना, टप्पल के पास डिफेंस कॉरिडोर, ग्रेटर नोएडा से सटकर बनने वाला लॉजिस्टिक और वेयर हाउस हब के साथ ही ग्रेटर नोएडा, यमुना सिटी और नोएडा में कई बड़े आईटी-आईटीएमएस और टॉय पार्क जैसे प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है. गंगा एक्सप्रेसवे के बन जाने से सभी प्रोजेक्ट में बहुत मदद मिलगी.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. जल्द ही पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) गंगा एक्सप्रेसवे का शिलान्यास कर सकते हैं. गंगा एक्सप्रेसवे मेरठ से इलाहबाद तक बन रहा है, लेकिन अच्छी बात यह है कि इसका फायदा दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) को भी मिलेगा. यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) और जेवर एयरपोर्ट के पास बसाए जा रहे इंडस्ट्रियल और कमर्शियल एरिया को इसका बड़ा फायदा होगा. जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) का काम शुरू हो जाने के बाद से तो इसकी खासियत और बढ़ गई है. बुलंदशहर और हापुड़ के पास गंगा एक्सप्रेसवे (Ganga Expressway) गौतम बुद्ध नगर को छूता हुआ निकलेगा. इसके चलते इलाहबाद का सफर सिर्फ 6 से 7 घंटे का ही रह जाएगा. वाहनों की अधिकतम स्पीड 120 किमी प्रति घंटा होगी. वहींं, जमीन अधिग्रहण का काम भी लगभग पूरा हो गया है.

    दिल्ली-एनसीआर के 3 शहरों को जोड़ेगा गंगा एक्सप्रेसवे
    गंगा एक्सप्रेसवे मेरठ के बिजौली गांव से शुरू होगा. मेरठ से शुरू होकर यह हापुड़ और बुलंदश्हर से गुजरता हुआ गौतम बुद्ध नगर तक दिल्ली-एनसीआर को जोड़ता हुआ गुजरेगा. दिल्ली-एनसीआर में एक्सप्रेसवे की लम्बाई कुल 59 किमी होगी, जिसमें से मेरठ में 15 किमी, हापुड़ में 33 और बुलंदशहर में 11 किमी होगी.

    गौरतलब रहे यमुना अथॉरिटी लगातार यमुना एक्सप्रेसवे और जेवर एयरपोर्ट के पास इंडस्ट्रियल, कमर्शियल और आवासीय एरिया बसा रही है. एयरपोर्ट के साथ ही फिल्म सिटी की तैयारी भी चल रही है. इसके अलावा कई और बड़ी परियोजनाओं पर भी काम हो रहा है.

    जल्द नोएडा से उड़ान भरेंगे हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी मंजूरी, जानिए पूरा प्लान

    12 जिलों और 519 गांवों से गुजरेगा एक्सप्रेसवे

    गंगा एक्सप्रेसवे के काम से जुड़े अफसरों की मानें तो यह एक्सप्रेसवे मेरठ से लेकर इलाहबाद तक के रास्ते में 12 जिलों तो 519 गांवों से होकर गुजरेगा. एक्सप्रेसवे के बीच-बीच में 14 बड़े पुल, 126 छोटे पुल, 929 पुलिया, 7 आरओबी, 28 फ्लाईओवर और 8 डायमंड इंटरचेंज बनेंगे. 120 मीटर चौड़े एक रेलवे ओवरब्रिज का भी निर्माण किया जाएगा. गंगा नदी पर एक किमी लम्बा पुल बनाया जाएगा. वैसे तो एक्सप्रेसवे 6 लेन का बनाया जाएगा, लेकिन उसके साइड में इतनी जमीन छोड़ी जाएगी कि जरूरत पड़ने पर गंगा एक्सप्रेसवे को 8 लेन का किया जा सके.

    यहां से भी गुजरेगा गंगा एक्सप्रेसवे

    जानकारों की मानें तो गंगा एक्सप्रेसवे मेरठ से शुरु होकर हापुड़-बुलंदशहर से तो गुजरेगा ही, लेकिन साथ में अमरोहा में 26 किमी, संभल में 39 किमी, बदायूं में 92 किमी, शाहजहांपुर में 40 किमी और हरदोई में 99 किमी, उन्नाव में एक्सप्रेसवे 105 किमी, रायबरेली में 77 किमी, प्रतापगढ़ में 41 किमी और इलाहबाद में आखिरी पाइंट तक 16 किलोमीटर लंबा होगा.

    Tags: CM Yogi Adityanath, Ganga Expressway, Jewar airport

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर