फिल्‍मी स्‍टाइल में अस्पताल से भागने वाला गैंगस्टर कुलदीप उर्फ फज्जा मुठभेड़ में ढेर, जानें पुलिस को कैसे मिली सफलता

गैंगस्टर कुलदीप उर्फ फज्जा पर कई मामले दर्ज थे.

गैंगस्टर कुलदीप उर्फ फज्जा पर कई मामले दर्ज थे.

दिल्‍ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल ने रविवार की सुबह जीटीबी अस्पताल से फिल्‍मी स्‍टाइल में भागने वाले गैंगस्‍टर कुलदीप उर्फ फज्जा (Gangster Kuldeep alias Fajja) को मुठभेड़ में ढेर कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 28, 2021, 2:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. दिल्‍ली पुलिस  (Delhi Police) की स्पेशल सेल को रविवार की सुबह एक बड़ी कामयाबी मिली है. इसी 25 मार्च को दिल्ली के जीटीबी अस्पताल से फिल्‍मी स्‍टाइल में भागने वाले गैंगस्‍टर कुलदीप उर्फ फज्जा (Gangster Kuldeep alias Fajja) को रोहिणी सेक्टर 14 के एक अपार्टमेंट में घेरकर मार गिराया गया है. स्पेशल सेल नई दिल्ली रेंज की टीम को यह कामयाबी मिली है. बीती रात लगभग 12 बजे के आसपास पुलिस को कुलदीप उर्फ फज्जा के रोहिणी के पास एक घर में छिपे होने की जानकारी मिली थी. जानकारी के मुताबिक, गैंगस्‍टर कुलदीप उर्फ फज्जा रोहिणी सेक्‍टर 14 में तुलसी अपार्टमेंट में किसी साथी के घर में छिपकर रह रहा था जिसके बाद स्पेशल सेल के एसीपी ललित मोहन नेगी, एसीपी हृदयभूषण, इंस्पेक्टर रविन्द्र जोशी, इंस्पेक्टर सुनील और इंस्पेक्टर विनय पाल की टीम ने उसको घेरने के लिए पूरे इलाके में ट्रैप लगाया.

बहरहाल, गैंगस्टर फज्जा को सरेंडर करने के लिए कहा गया लेकिन उसने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी और भागने की कोशिश करने लगा. इसके बाद स्पेशल सेल की टीम ने जवाबी कार्रवाई करते हुए फायरिंग की जिसमें से कई गोलियां गैंगस्टर कुलदीप उर्फ फज्जा को लगीं और वो मौके पर ढेर हो गया. जबकि उसके 2 गुर्गे योगेंद्र और भूपेंद्र पकड़े गए हैं. पुलिस पार्टी की तरफ से जवाबी कार्रवाई में तकरीबन 1 दर्जन गोलियां चलाई गईं.

Youtube Video


जीटीबी अस्पताल से भागा था गैंगस्‍टर
गैंगस्‍टर कुलदीप उर्फ फज्जा दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के लिए एक चैलेंज था, क्योंकि पिछले साल ही उसकी गिरफ्तारी स्पेशल सेल ने की थी. इसके बाद गुरुवार 25 मार्च को मंडोली जेल में बंद कुलदीप उर्फ फज्जा को जब दिन में मेडिकल चेकअप के लिए जीटीबी अस्पताल लाया जा रहा था, तभी उसके साथी फिल्‍मी स्‍टाइल में उसे तीसरी बटालियन की पुलिस कस्टडी से छुड़ाकर ले गए थे. हालांकि इस दौरान मुठभेड़ में एक बदमाश अस्पताल परिसर में ही मारा गया था और 2 बदमाश पकड़े गए थे. कुलदीप को उसके साथी पुलिस कस्टडी से छुड़ाकर ले गए थे और तभी से उसके पीछे स्पेशल सेल की टीमें लगी हुई थीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज