हर वार्ड में घर-घर से उठेगा कूड़ा, MCD ने शुरू की गीला-सूखा कूड़ा उठाने की योजना

घर-घर से कूड़ा उठाने की योजना के तहत सभी वार्डों के प्रत्येक घर से अलग-अलग- गीला व सूखा कूड़ा संग्रहित किया जा रहा है.

घर-घर से कूड़ा उठाने की योजना के तहत सभी वार्डों के प्रत्येक घर से अलग-अलग- गीला व सूखा कूड़ा संग्रहित किया जा रहा है.

पूर्वी दिल्ली के सभी वार्डों में 300 से अधिक टिप्परों और 500 से अधिक मैनुअल रिक्शाओं के माध्यम से हर घर से कूड़ा संग्रहित किया जा रहा है. हर वार्ड में 1 या 2 कॉम्पेक्टर का प्रयोग किया जाएगा. कूड़ा संग्रहण के लिए अलग-अलग कूड़ेदानों का प्रयोग किया जा रहा है.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली नगर निगम (MCD) ने अपने सभी 64 वार्डों में डोर टू डोर कूड़ा उठाने की योजना लागू की है. इसको चरणबद्ध तरीके से हर वार्ड में लागू किया जा रहा है. ईडीएमसी (EDMC) के अधीनस्थ वार्डों में 300 से ज्यादा ऑटो टिप्पर (Auto Tipper) और 500 से ज्यादा मैनुअल रिक्शा के जरिए कूड़ा उठाया जा रहा है. इससे गीला और सूखा कूड़ा संग्रहित करने में निगम को काफी मदद मिल रही है.

ईस्ट दिल्ली (East Delhi) के मेयर निर्मल जैन ने कहा है कि घर-घर से कूड़ा उठाने की योजना के तहत सभी वार्डों के प्रत्येक घर से अलग-अलग- गीला व सूखा कूड़ा संग्रहित किया जा रहा है. जिसे बंद पात्रों वाले वाहनों से प्रसंस्करण के लिए भेजा जाता है.

इससे ना केवल ढलावों पर कूड़े की मात्रा कम हो रही है बल्कि कूड़े का निस्तारण भी वैज्ञानिक ढंग से किया जा रहा है. गीले कूड़े से खाद बनाई जा रही है जिससे लैंडफिल साइट पर भी दबाव कम होगा.

जैन ने कहा कि पूर्वी दिल्ली नगर निगम (EDMC) की इस योजना से शहर में अपशिष्ट प्रबंधन व्यवस्था में सुधार होगा जिससे पर्यावरण का स्तर सुधरेगा.
जैन ने कहा कि आधुनिक मशीनरी का इस्तेमाल इस योजना की अहम विशेषता है. इसके तहत प्रत्येक वार्ड में चौड़ी गलियों से कूड़े संग्रहण के लिए 5-10 टिप्पर, छोटी गलियों से कूड़ा संग्रहण के लिए मैनुअल रिक्शा का इस्तेमाल किया जा रहा है.

पूर्वी दिल्ली के सभी वार्डों में 300 से अधिक टिप्परों और 500 से अधिक मैनुअल रिक्शाओं के माध्यम से हर घर से कूड़ा संग्रहित किया जा रहा है. हर वार्ड में 1 या 2 कॉम्पेक्टर का प्रयोग किया जाएगा. कूड़ा संग्रहण के लिए अलग-अलग कूड़ेदानों का प्रयोग किया जा रहा है.

जैन ने कहा कि लोगों के व्यवहार में परिवर्तन लाने के लिए जनजागरुकता अभियान भी चलाए जा रहे हैं. होर्डिंग-बैनर और पम्फलैट्स के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा है कि ताकि वे कूड़ा इधर-उधर ना फेंके और साफ-सफाई का ध्यान रखें. जैन ने लोगों से अपील है कि वे कूड़े को अलग-अलग करके दें और अपने क्षेत्र को स्वच्छ रखने में पूर्वी दिल्ली नगर निगम का सहयोग करें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज