Home /News /delhi-ncr /

फिर संकट मोचक बने वीके सिंह, अगवा भारतीय को अफ्रीका में छुड़वाया

फिर संकट मोचक बने वीके सिंह, अगवा भारतीय को अफ्रीका में छुड़वाया

अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छूटने के बाद से पूरा परिवार इतना खुश है कि उसने जनरल को खत लिखकर थैंक्यू भेजा है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि हम जीवन भर उनके आभारी रहेंगे. इससे पहले भी जनरल वी के सिंह यमन में फंसे भारतीयों के लिए संकट मोचक बनकर सामने आए हैं

अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छूटने के बाद से पूरा परिवार इतना खुश है कि उसने जनरल को खत लिखकर थैंक्यू भेजा है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि हम जीवन भर उनके आभारी रहेंगे. इससे पहले भी जनरल वी के सिंह यमन में फंसे भारतीयों के लिए संकट मोचक बनकर सामने आए हैं

अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छूटने के बाद से पूरा परिवार इतना खुश है कि उसने जनरल को खत लिखकर थैंक्यू भेजा है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि हम जीवन भर उनके आभारी रहेंगे. इससे पहले भी जनरल वी के सिंह यमन में फंसे भारतीयों के लिए संकट मोचक बनकर सामने आए हैं

अधिक पढ़ें ...
    विदेश राज्य मंत्री और गाजियाबाद से सांसद जनरल वीके सिंह एक बार फिर संकट मोचक बनकर उभरे हैं. दरअसल, अफ्रीका में अपहृत एक बिजनेसमैन को वीके सिंह ने अपरहरणकर्ताओं से सकुशल छुड़ाने में सफल रहे हैं. कविनगर के मूल निवासी बिजनेसमैन की पहचान सुनील साहनी के रूप में हुई है, जो मूल रूप से कविनगर के निवासी है, लेकिन कई वर्ष से अफ्रीका में बसकर वहां रेस्टोरेंट चला रहे थे.

    यह भी पढ़ें-समाजसेवा करना चाहता था, दुर्घटनावश राजनीति में आ गया: वीके सिंह

    रिपोर्ट के मुताबिक अपहरणकर्ताओं ने रेस्टोरेंट पर कब्जा करने के इरादे से बिजनेसमैन सुनील साहनी और उनके दो बच्चों का अपरहण किया था. बताया जाता है अपहरण की सूचना के बाद कविनगर में रह रही उनकी पत्नी ने जनरल वीके सिंह के स्टाफ संपर्क कर पति और बच्चों को अपहरणकर्ताओं से छुड़ाने के लिए मदद मांगी थी.

    यह भी पढ़ें-वी.के. सिंह ने उरी हमले की खामियों की जांच की जरूरत बताई

    सूचना के बाद जनरल वीके सिंह ने तुरंत एक्शन लेते हुए अफ्रीका में दूतावास के अधिकारियों से संपर्क किया और साहनी की पत्नी का पता और नंबर उन्हें दे दिया. दूतावास के अधिकारियों ने तुरंत सुनील साहनी की पत्नी से संपर्क किया और उसके बाद पुलिस ने साहनी और उनके दोनों बच्चो को अपहरणकर्ताओं से सकुशल छुड़ा लिया गया. दूतावास के अधिकारियों को सुनील साहनी और उनके दोनों बच्चों को छुड़ाने में कुल 7 से 8 घंटे लगे.

    यह भी पढ़ें-ऑपरेशन 'राहत' के हीरो वीके सिंह दिल्ली लौटे

    अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छूटने के बाद से पूरा परिवार इतना खुश है कि उसने जनरल को खत लिखकर थैंक्यू भेजा है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि हम जीवन भर उनके आभारी रहेंगे. इससे पहले भी जनरल वी के सिंह यमन में फंसे भारतीयों के लिए संकट मोचक बनकर सामने आए हैं

    रिपोर्ट-अमित राणा, गाजियाबाद)

    Tags: Ministry of External Affairs

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर