लाइव टीवी

गाजियाबादः विदेश में नौकरी का सपना दिखा ठगने वाले 3 शातिर गिरफ्तार, एक पीड़ित ने खोली जालसाजी की पोल
Delhi-Ncr News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 15, 2019, 5:34 PM IST
गाजियाबादः विदेश में नौकरी का सपना दिखा ठगने वाले 3 शातिर गिरफ्तार, एक पीड़ित ने खोली जालसाजी की पोल
पुलिस मामले की जांच करने की बात कर रही है..(प्रतीकात्मक तस्वीर)

गाजियाबाद (Ghaziabad) में पुलिस ने सऊदी अरब (Saudi Arabia) में नौकरी (Job) दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी (Fraud) करने वाले 3 शातिर अपराधियों को गिरफ्तार किया. विदेश भेजने के नाम पर मानव-तस्करी (Human Trafficking) का गोरखधंधा चलाने का आरोप.

  • Share this:
गाजियाबाद. सऊदी अरब (Saudi Arabia) में नौकरी (Job) का झांसा देकर भोले-भाले लोगों को ठगने और जालसाजी (Fraud) करने वाले 3 शातिर अपराधियों को गाजियाबाद (Ghaziabad) पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर ये आरोपी 2 से 3 लाख रुपए तक लेकर लोगों को दूसरे देश भेज देते थे. विदेश में मौजूद शातिरों के एजेंट भोले-भाले लोगों के जरूरी कागजात एयरपोर्ट पर ही ले लेते थे. इसके बाद पीड़ितों को न तो काम मिलता था और न ही इन पैसों का हिसाब. उल्टा विदेशी पुलिस की कैद में उन्हें तमाम परेशानियां भी झेलनी पड़ती हैं. गाजियाबाद के भोजपुर थाना क्षेत्र के तयोड़ी गांव के एक पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने रविवार को 3 शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया, तब जाकर इनकी जालसाजी का पर्दाफाश हुआ है.

पीड़ित की शिकायत पर हुई गिरफ्तारी
बीते दिनों अरशद नाम का एक पीड़ित युवक पुलिस के पास पहुंचा. तयोड़ी गांव के निवासी अरशद का आरोप था कि गांव के ही अमीरूद्दीन ने उससे सऊदी में नौकरी दिलाने के नाम पर 2.60 लाख रुपए लिए थे. नौकरी का सपना लिए अरशद जब सऊदी के एयरपोर्ट पर उतरा, तो वहां एक एजेंट ने उससे सारे कागजात ले लिए. अरशद ने बताया कि कागजात न होने के कारण उसे वहां पुलिस की कैद में रहना पड़ा. उसके सारे पैसे भी ले लिए गए. पुलिस ने अरशद की शिकायत पर तीनों शातिरों को गिरफ्तार किया है.

विदेश में फंसे हैं परिजन



अरशद का मामला सामने आने के बाद तयोड़ी के कई अन्य युवाओं से भी इसी तरह ठगी किए जाने के मामले सामने आए हैं. बताया गया कि सफायत अली के भाई सलमान को भी इन्हीं शातिरों ने विदेश में नौकरी का झांसा देकर उससे 2.60 लाख रुपए लिए थे. सऊदी पहुंचने के बाद सलमान को नौकरी नहीं मिली. सफायत ने बताया कि उसके भाई को विदेश में बंधक बनाकर रखा गया है. कभी-कभी फोन पर बात होती है, जिसमें सलमान ने मारपीट और प्रताड़ित किए जाने की बात कही है. सफायत ने पुलिस से अपने भाई को विदेश से छुड़वाने की गुहार लगाई है.



2 से 3 लाख रुपए की वसूली
पुलिस ने इस मामले में जिन 3 बदमाशों को गिरफ्तार किया है, उनमें अमीरुद्दीन और उसके दो साथी यामीन व मशरूफ शामिल है. अमीरुद्दीन ने पुलिस हिरासत में बताया कि दिल्ली और मुंबई की ट्रेवल कंपनियों में उसके एजेंट काम करते हैं. आरोपी ने बताया कि विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर एक व्यक्ति से 2 लाख 60 हजार रुपए लिए जाते हैं, जिसमें से 6 से 8 हजार रुपए कमीशन होता है. इसके बाद शख्स को विदेश भेज दिया जाता है. पुलिस ने पीड़ितों की शिकायत पर मामला दर्ज करने के बाद आरोपियों के खिलाफ जांच शुरू कर दी है. पुलिस ने बताया कि जालसाजी के अलावा मानव-तस्करी के एंगल से भी मामले में जांच की जा रही है. पुलिस को शक है कि अमीरूद्दीन और उसके आरोपी विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर यहां से अवैध तरीके से लोगों को दूसरे देश भिजवाने का काम करते हैं.

ये भी पढ़ें -

गाजियाबाद सामूहिक आत्महत्या: मृतक गुलशन का साढ़ू राकेश वर्मा गिरफ्तार

इंदिरापुरम में 2 बच्चों की हत्या कर पति, पत्नी व बिजनेस पार्टनर 8वीं मंजिल से कूदे, सभी की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 15, 2019, 5:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading