अपना शहर चुनें

States

पहले की लॉ स्टूडेंट की हत्‍या, फिर घर के बेसमेंट में 6 फीट गड्ढा खोद दफनाया

लॉ स्टूडेंट की हत्या के बाद बेसमेंट में दफनाया. (प्रतीकात्मक फोटो)
लॉ स्टूडेंट की हत्या के बाद बेसमेंट में दफनाया. (प्रतीकात्मक फोटो)

Law Student की हत्‍या का सनसनीखेज मामला सामने आया है. घटना साहिबाबाद (Sahibabad) थाना क्षेत्र स्थित गिरधर एंक्‍लेव की है.

  • Share this:
गाजियाबाद. उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद (Ghaziabad) में कानून की पढ़ाई कर रहे एक छात्र (Law student) की हत्या करने के बाद उसे घर के अंदर ही दफनाने का दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है. हत्या का आरोप पुराने मकान मालिक और उसके परिवार के लोगों पर लगा है. वहीं, सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम (Postmortem) के लिए भेज दिया है. साथ ही मामले की जांच भी शुरू कर दी गई है. आरोपी परिवार मौके से फरार है. मृतक की पहचान पंकज सिंह के रूप में हुई है.

जानकारी के मुताबिक, मामला साहिबाबाद थाना क्षेत्र स्थित गिरधर एंक्‍लेव का है. इस घर में सुबह से ही पुलिस और लोगों का जमवाड़ा है. दरअसल, पंकज सिंह बलिया का रहने वाला था. वह गाजियाबाद में रहकर कानून की पढ़ाई कर रहा था. पंकज इस घर में 15 दिन किराए पर रहा था. उसके बाद वो कहीं और रहने लगा था. पंकज यहीं पर एक कैफे भी चलाया करता था. कहा जा रहा है कि लॉ स्‍टूडेंट दशहरे के दिन से लापता था. पंकज की हत्या कर उसको 6 फीट नीचे इसी घर के बेसमेंट में दफना दिया गया था.

करीबियों को पहले से शक था
मृतक के पिता नरेंद्र सिंह ने कहा है कि इस हत्या के बाद से आरोपी अपने पूरे परिवार के साथ फरार है. पंकज के करीबियों ने पुलिस पर सगीन आरोप लगाए हैं. करीबियों का कहना है कि पुलिस की लापरवाही के कारण पंकज को तलाश करने में काफी समय लगा. साथ ही इनकी लापरवाही के कारण ही आरोपी फरार हो गए. दरअसल, करीबियों को बेसमेंट की हालत देखकर पहले से ही यह शक था. इसकी सूचना करीबियों ने पुलिस को भी दी थी, लेकिन आरोप है कि कोई सुनवाई नहीं हुई. वहीं, पुलिस का कहना है की आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा. यदि किसी पुलिसकर्मी की लापरवाही सामने आती है तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी.
ये भी पढ़ें- 



शर्मनाक! रात में सो रही 13 साल की बेटी से पिता ने की रेप की कोशिश

अयोध्या: SC का निर्देश-UP सुन्नी वक्फ बोर्ड के प्रमुख को सुरक्षा दे योगी सरकार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज