होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /अगले साल शहर के प्रमुख रूटों पर दोड़ेंगी इलेक्ट्रिक बसें, जानें रूट

अगले साल शहर के प्रमुख रूटों पर दोड़ेंगी इलेक्ट्रिक बसें, जानें रूट

लोगों को ऑटो, टेंपो और डग्‍गामार बसों पर नहीं रहना पड़ेगा निर्भर. (सांकेतिक तस्‍वीर)

लोगों को ऑटो, टेंपो और डग्‍गामार बसों पर नहीं रहना पड़ेगा निर्भर. (सांकेतिक तस्‍वीर)

परिवहन निगम नए साल पर 150 इलेक्ट्रिक बसों का तोहफा गाजियाबाद के लोगों को देगा. इन बसों के जल्द मिलने की उम्मीद में रूट ...अधिक पढ़ें

    गाजियाबाद. शहर के सभी प्रमुख रूटों पर अगले साल से इलेक्ट्रिक बसें चलेंगी, जिससे लोगों को आटो,टेंपो और डग्‍गामार बसों पर निर्भर न रहना पड़े. रोडवेज अधिकारियों के अनुसार अगले साल शुरू होने वाली बसों में सबसे ज्‍यादा राजनगर एक्‍सटेंशन से कौशांबी डिपो और पुराने बस अड्डे से लाल कुआं के बीच चलेंगी. मौजूदा समय शहर में चार रूटों पर इलेक्ट्रिक बसों का सफल संचालन हो रहा है.

    परिवहन निगम नए साल पर 150 इलेक्ट्रिक बसों का तोहफा गाजियाबाद के लोगों को देगा. इन बसों के जल्द मिलने की उम्मीद में रूट भी तैयार कर लिए गए है. क्षेत्रीय प्रबंधक एके सिंह ने बताया कि अभी शहर में 30 इलेक्ट्रिक बसों का संचालन हो रहा है. इसके अलावा 15 बसें डिपो पर हैं. जल्‍द ही पांच और बसें मिल जाएंगी. इन बसों के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया चल रही है. प्रक्रिया पूरी होते ही बसें शहर के रूटों पर दौड़ेंगी.

    उन्होंने कहा कि शासन ने कई शहरों के लिए दो हजार ई-बसों का प्रस्ताव बनाया है. गोरखपुर, लखनऊ को इलेक्ट्रिक बसें मिल चुकी हैं. अब गाजियाबाद को भी जल्द ही अतिरिक्त बसें मिल जाएंगी. पहले चरण में 50 बसें चलाई जाएंगी, जबकि दूसरे चरण में 150 बसें चलाई जाएंगी. आने वाली 150 बसों को अन्‍य रूटों के अलावा राजनगर एक्सटेंशन से कौशांबी और पुराने बस अड्डे से लालकुआं तक चलाया चलाया जाएगा. इसके साथ ही नए रूट तैयार किए जा रहे हैं. वहीं जिन रूटों पर जरूरत होगी, वहां बसों की संख्या बढ़ाई जाएगी.

    आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

    दिल्ली-एनसीआर
    दिल्ली-एनसीआर

    इन चार रूटों पर चल रहीं इलेक्ट्रिक बसें

    लोनी से पुराना बस अड्डा

    दिलशाद गार्डन से डासना मसूरी

    कौशांबी से मोदीनगर

    पुराना बस अड्डे से मंडोला विहार लोनी

    Tags: Ghaziabad News, Uttar pradesh news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें