Home /News /delhi-ncr /

गाजियाबाद नगर निगम अधिक प्रदूषण वाले इलाकों को चिन्हित करेगा, फिर प्रदूषण कम करने के लिए करेगा ये उपाय

गाजियाबाद नगर निगम अधिक प्रदूषण वाले इलाकों को चिन्हित करेगा, फिर प्रदूषण कम करने के लिए करेगा ये उपाय

प्रदूषण कम करने के लिए गाजियाबाद नगर निगम ने शुरू किया अभियान.

प्रदूषण कम करने के लिए गाजियाबाद नगर निगम ने शुरू किया अभियान.

Ghaziabad Municipal Corporation: गाजियाबाद नगर आयुक्‍त महेन्‍द्र सिंह तंवर ने बताया कि प्रदूषण को कम करने के लिए लंग्स आफ गाजियाबाद अभियान शुरू किया गया है. इस अभियान से शहर में हरियाली वापस लाई जाएगी. यह अभियान उन स्‍थानों पर चलाया जाएगा, जहां प्रदूषण का स्‍तर अधिक रहता है. आक्‍सीजन वाले पौधे लगाकर इससे प्रदूषण को कम किया जा सकेगा.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. जिला एक ओर स्‍वच्‍छता के मामले में टॉप रेटिंग पर रहता है, लेकिन प्रदूषण (pollution) के मामले में प्रदेश के साथ साथ देश में भी अव्‍वल रहा है. गाजियाबाद की खराब हवा को ठीक करने के लिए गाजियाबाद नगर निगम (Ghaziabad Municipal Corporation) ने अभियान शुरू किया है, इस अभियान का नाम लंग्‍स ऑफ गाजियाबाद (Lungs of Ghaziabad) रखा गया है. इस अभियान के तहत ऐसे स्थानों को चिह्नित किया जाएगा, जहां पर प्रदूषण ज्यादा होता है. इन स्थानों पर प्रदूषण को कम करने के लिए पौधे लगाए जाएंगे. इसकी शुरुआत भी हो चुकी है.

    गाजियाबाद नगर आयुक्‍त महेन्‍द्र सिंह तंवर ने बताया कि प्रदूषण को कम करने के लिए लंग्स आफ गाजियाबाद अभियान शुरू किया गया है. इस अभियान से शहर में हरियाली वापस लाई जाएगी. यह अभियान उन स्‍थानों पर चलाया जाएगा, जहां प्रदूषण का स्‍तर अधिक रहता है. इससे प्रदूषण को कम किया जा सकेगा.

    शहर के सबसे प्रदूषित क्षेत्रों में से एक कविनगर औद्योगिक क्षेत्र है, यहां पर छोटी-बड़ी मिलाकर करीब चार हजार औद्योगिक इकाइयां हैं, जिस कारण प्रदूषण का स्तर बढ़ता है. यहां पर प्रदूषण को कम करने के लिए नगर निगम ने कंपनियों के सीएसआर फंड के माध्यम से दयानंद पार्क में 21000 पौधे मियावाकी पद्धति से लगाने का निर्णय लिया है.

    नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर और इंडियन आयल के अधिकारियों, प्रयास यूथ फाउंडेशन के सदस्यों सहित अन्य लोगों ने मिलकर पौधे लगाए हैं. पौधारोपण में सहयोग करने वाले से अर्थ संस्था के संचालक रामवीर तंवर ने बताया कि दयानंद पार्क में नीम, जामुन, तिलखन, आंवला, कनेर, पापड़ी, बालमखीरा, कटहल, आम, अमरूद, लीची, आड़ू के पौधे लगाए गए हैं, जिससे प्रदूषण में कमी लाई जा सके. इसके अलावा शहर से प्रदूषण को कम करने के लिए सांई उपवन में भी पौधे लगाए गए हैं. वहीं महामाया स्टेडियम के पीछे बायोडायवर्सिटी पार्क भी तैयार कराया जा रहा है, एक साल में पार्क तैयार हो जाएगा. यहां 800 प्रजातियों के पौधे लगाए जाएंगे.

    Tags: Air pollution, Ghaziabad News, NCR Air Pollution

    अगली ख़बर