corona relief news-  कोरोना से मृत्‍यु वाले परिवारों से हाउस टैक्‍स नहीं वसूलेगा गाजियाबाद नगर निगम

राहत देने का फैसला

राहत देने का फैसला

गाजियाबाद नगर निगम ने ऐसे परिवारों को हाउस टैक्‍स से छूट देने का फैसला लिया है, जिनके परिवार के मुखिया या परिवार के सदस्‍य की कोरोना से मौत हुई है.

  • Share this:

गाजियाबाद. शहर में रहने वाले ऐसे भवन मालिक, जिन्होंने कोरोना के कारण अपने परिवार के किसी सदस्य को खो दिया है, उनके भवन का एक साल का हाउस टैक्‍स गाजियाबाद नगर निगम नहीं वसूलेगा. सामान्‍य लोगों को वित्तीय वर्ष 2021-22 का हाउस टैक्‍स 15 फीसद वृद्धि के साथ जमा कराना होगा, उनको कोई राहत नहीं दी गई है. नगर निगम के अनुसार प्रदेश के कई जिलों की अपेक्षा गाजियाबाद में हाउस टैक्‍स की दर पहले से ही कम हैं. इसलिए छूट नहीं दी जाएगी.

महापौर आशा शर्मा ने  बताया कि शहर में विकास कार्य कराए जा सकें, इसके लिए हाउस  टैक्‍स में पहले से ही निर्धारित की गई वृद्धि के अनुसार ही 15 फीसदी बढ़ोतरी की गई है. जिन परिवारों ने कोरोना के कारण अपनों को खोया है, उनसे वित्तीय वर्ष 2021-22 का हाउस  टैक्‍स नहीं लेने का निर्णय लिया गया है, जिससे ऐसे परिवारों को राहत मिल सके.  कोरोना के चलते  अन्य सभी शहरवासियों को भी राहत देने के उद्देश्य से वित्तीय वर्ष 2021- 22 में 31 अक्टूबर 2021 तक सम्पत्ति कर जमा किये जाने पर 20  फीसदी, नवम्बर दिसम्बर 2021 में 15 फीसदी तथा जनवरी- फरवरी 2022 में संपत्ति कर जमा करने पर दी जाएगी 10  फीसदी की छूट  दी जाएगी.

इसी क्रम में वित्तीय वर्ष 2021-22 के अंतर्गत 31 अक्टूबर 2021 तक 20  फीसदी की छूट, माह नवम्बर-दिसम्बर 2021 में संपत्ति कर जमा करने वाले को 15 फीसदी की छूट, माह जनवरी-फरवरी 2022 में संपत्ति कर जमा करने वालों को 10 फीसदी की न्छूट दी जाएगी, जिससे शहरवासियों को राहत मिलेगी

सर्किल दरों के आधार पर दरें निर्धारित कर कराकर आपत्तियां मांगी गईं, जिस के संबंध में सुनवाई उपरांत बोर्ड के समक्ष निर्णय लिया जाना है लेकिन कोरोना  की वजह से वर्तमान परिस्थितियों में पूर्व में निर्धारित वृद्धि को ही पार्षदों की क्षेत्रवासियों के प्रति जिम्मेदारी को देखते हुए उठाए गए कदम के अनुरूप गाजियाबाद नगर आयुक्त को निर्देशित किया गया है कि पूर्व में बकाया संपत्ति कर लागू किया जाए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज