Assembly Banner 2021

गाजियाबाद: DM ऑफिस के बाहर भूख हड़ताल पर बैठे अभिभावकों ने थाली बजाकर जताया विरोध, देखें Video

थाली बजाकर और मोमबती जलाकर विरोध करते अभिभावक.

थाली बजाकर और मोमबती जलाकर विरोध करते अभिभावक.

गाजियाबाद के जिला मुख्यालय पर पेरेंट्स एसोसिएशन (Parents Association) के सदस्य पिछले 7 दिनों से भूख हड़ताल पर बैठए हुए हैं. इस दौरान दो महिलाएं भी बीमार होकर अस्पताल में भर्ती हो चुकी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 8, 2020, 9:17 AM IST
  • Share this:
गाजियाबाद. उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में पेरेंट्स एसोसिएशन (Ghaziabad Parents Association) के सदस्यों की भूख हड़ताल अभी भी जारी है. सोमवार की रात को पेरेंट्स एसोसिएशन के सदस्य ने मोमबत्तियां, मोबाइल की लाइटें और दीये जलाकर प्राइवेट स्कूलों के खिलाफ अपना विरोध जताया. इस दौरान कई अभिभावकों  ने तो थाली बजाकर निजी स्कूलों के खिलाफ अपनी मांगों को लेकर हल्ला बोला. दरअसल, स्कूल फीस माफ करने को लेकर वे लोग पिछले कई दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं. उन लोगों का कहना है प्राइवेट स्कूल लॉकडाउन के दौरान की स्कूल की फीस को (School Fees) माफ करे, नहीं तो भूख हड़ताल यूं ही जारी रहेगी.

जानकारी के मुताबिक, गाजियाबाद के जिला मुख्यालय पर पेरेंट्स एसोसिएशन के सदस्य पिछले 7 दिनों से भूख हड़ताल पर बैठए हुए हैं. इस दौरान दो महिलाएं भी बीमार होकर अस्पताल में भर्ती हो चुकी हैं. ऐसी ही महिला जो अस्पताल में भर्ती थीं, वह सोमवार को दोबारा भूख हड़ताल पर लौटी थीं. लोगों ने उनका जबरदस्त स्वागत किया था. वहीं, कल भारतीय किसान यूनियन ने भी पैरेंट्स की भूख हड़ताल का समर्थन किया था. मौके पर पहुंचे किसान यूनियन ने आरोप लगाया था कि क्या जब कोई बड़ा हादसा हो जाएगा तब जिला प्रशासन जागेगा.





भूख हड़ताल का आज 7वां दिन है
बता दें कि गाजियाबाद पेरेंट्स एसोसिएशन पिछले 7 दिनों से लॉकडाउन के दौरान की 3 महीने की स्कूल फीस माफ करने को लेकर धरने पर बैठा हुआ है. भूख हड़ताल का आज 7वां दिन है, बावजूद इसके अभी तक अधिकारियों की ओर से कोई फैसला नहीं लिया गया है. वहीं, भूख हड़ताल में शामिल अस्पताल से वापिस आयी महिला साधना सिंह ने कहा कि जब तक सांस बाकी है तब तक अपना आंदोलन जारी रखेंगी. उन्होंने कहा कि पता नहीं सरकार क्या चाहती है. मालूम नहीं अभी तक कोई ठोस आश्वासन क्यों नहीं मिला है?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज