पीएम मोदी के 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' की गुड़गांव में जीत, बेटियों का आंकड़ा बढ़कर हुआ 946
Delhi-Ncr News in Hindi

पीएम मोदी के 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' की गुड़गांव में जीत, बेटियों का आंकड़ा बढ़कर हुआ 946
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 जनवरी 2015 को हरियाणा से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत की. इस अभियान को शुरू हुए शुक्रवार को पूरा एक साल हो गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 जनवरी 2015 को हरियाणा से 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' अभियान की शुरुआत की. इस अभियान को शुरू हुए शुक्रवार को पूरा एक साल हो गया है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 जनवरी 2015 को हरियाणा से 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' अभियान की शुरुआत की. इस अभियान को शुरू हुए शुक्रवार को पूरा एक साल हो गया है.

इस एक साल में इस अभियान के चलते करोड़ों रुपए खर्च किए जा चुके हैं, लेकिन इस दिशा में कोई सुधार देखने को नहीं मिला है. लेकिन पिछले एक महीने की बात करें तो लिंगानुपात में काफी सुधार देखा गया है.

पहली बार ऐसा हुआ है कि एक महीने में लिंगानुपात 903 पर पहुंच गया है. हरियाणा सरकार को उम्मीद है कि अगले छह महीने में 1000 लड़कों पर लड़कियों की संख्या बढ़कर 950 तक पहुंच जाएगी.



पिछले साल 871 लड़कियों की अपेक्षा इस साल राज्य के औसत लिंगानुपात में 5 की बढ़ोतरी हुई है, जो बढ़कर 876 पर पहुंच चुका है. गुड़गांव में भी ये आंकड़ा बढ़कर 946 हो गया है. बता दें कि भारत और प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही दर्जनभर योजनाओं का असर न के बराबर रहा है.



हालांकि 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' अभियान की दिशा में कई कदम उठाए गए हैं. गुड़गांव में अस्पतालों और निजी क्लिनिकों पर स्वास्थ्य विभाग ने छापेमारी भी ज्‍यादा की है.पीएनडीटी एक्ट के तहत लिंग जांच करने वालों की धरपकड़ में भी तेजी आई है.

बता दें कि जनवरी 2015 से नवंबर 2015 तक अनुपात वहीं खड़ा रहा, जहां एक साल पहले था. हालांकि स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में जुलाई 2014 में बेटियों की संख्या एक हजार बेटों के पीछे 869 थी. वहीं, अक्टूबर के आखिर में गुड़गांव की दशा में कुछ सुधार आया.

गुड़गांव में अनुपात 830 से बढ़कर 841 हुआ है, लेकिन ये उछाल भी जुलाई के बाद 2 महीनों में हुआ है. जनवरी से जुलाई 2015 तक गुड़गांव के लिंगानुपात में काफी गिरावट आई थी. गुड़गांव में 880 से गिरकर 851 हो गया था.

दिसंबर के आए ताजा आंकड़ों ने सबके चेहरों पर रौनक ला दी है. वहीं, गुड़गांव में उपायुक्त टीएल सत्‍य प्रकाश की देखरेख में टीमें बनाकर भ्रूण हत्‍या करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई तेज हो गई है. इसी टीम के मेंबर और रेड क्रॉस सोसाइटी के प्रेजीडेंट श्यामसुंदर का कहना है कि बदलाव आया है और आगे बदलाव की उम्मीद है.
First published: January 22, 2016, 2:24 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading