पहले पिता ने किया बेटी का सौदा, उसके बाद चार बार बेची गई ढाई महीने की बच्ची, पिता समेत 5 गिरफ्तार
Delhi-Ncr News in Hindi

पहले पिता ने किया बेटी का सौदा, उसके बाद चार बार बेची गई ढाई महीने की बच्ची, पिता समेत 5 गिरफ्तार
बार-बार बेची जा रही बच्ची सकुशल बरामद कर ली गई है. पांच लोग गिरफ्तार किए गए हैं.

दिल्ली महिला आयोग (Delhi Women's Commission) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा पूरी रात मशक्कत कर, कई जगह छापे मारे और एक इतने बड़े रैकेट जिसमें बच्ची को कई बार बेचा गया उससे छुड़वाया. इस केस में 5 लोग गिरफ्तार हुए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 13, 2020, 5:01 PM IST
  • Share this:
गौतमबुद्ध नगर. दिल्ली महिला आयोग (DCW) को फोन कॉल कर एक शख्स ने बताया कि उसकी ढाई महीने की बेटी को बेचने की कोशिश की जा रही है. कॉल करने वाले अमनप्रीत ने डीसीडबल्ल्यू से इस बाबत मदद मांगी. दरअसल, अमनप्रीत नाम का यह शख्स अपनी बच्ची की परवरिश कर पाने में असमर्थ था, तो उसने अपनी बच्ची दूसरे परिवार को सौंप दी थी. लेकिन उसे पता चला कि वह दूसरा परिवार उसकी बच्ची को बेचना चाहता है, तो उसने महिला आयोग का दरवाजा खटखटाया और मदद की गुहार लगाई. तब दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मलिवाल (Swati Maliwal) ने सूचना मिलते ही एक टीम गठित की. टीम ने बच्ची को सही-सलामत बरामद कर लिया. इस मामले में 5 लोग गिरफ्तार (Arrested) किए गए हैं. बच्ची के पुनर्वास की कोशिश चल रही है.

40000 में बेची अपनी ढाई साल की बच्ची

महिला आयोग की टीम बेटी के पिता अमनप्रीत के साथ सबसे पहले जाफराबाद (Jafrabad) पहुंची, जहां पर इस अमनप्रीत ने अपनी बेटी को मनीषा नाम की महिला को सौंपा था. दिए गए पते पर पहुचने पर मनीषा वहां नहीं मिली. तब आयोग की टीम ने अमनप्रीत को मनीषा को फोन करने को कहा गया. मनीषा ने बताया कि उसने बच्ची को आगे बेच दिया है. मनीषा की बातचीत से ही पता चला कि अमनप्रीत ने अपनी बच्ची 40 हजार में मनीषा से बेची थी.



पांच बार बेची गई ढाई माह की बच्ची
इसके बाद आयोग की टीम अमनप्रीत को थाने में ले गई और पुलिस (POLICE) ने उससे पूछताछ की. उसने बताया कि वह वाहन चालन का काम करता है. उसकी पहले से दो बेटियां और हैं, तीसरी बेटी होने पर इसने बच्ची को 40,000 रुपए में बेच दिया था. पूछताछ के दौरान उसने मादीपुर के एक संदिग्ध घर का पता बताया. आयोग की टीम पुलिस और अमनदीप को लेकर मादीपुर के बताए पते पर पहुंची तो वहां इंदु नाम कि महिला मिली. इंदु से पूछताछ में पता लगा कि उसने बच्ची को आगे शकूरपुर में राधा नाम की महिला को बेच दिया है. इसके बाद टीम शकूरपुर के पते पर पहुंची. पते पर राधा से मिलने पर उसने बताया कि उसने बच्ची को चावड़ी बाजार में रहने वाली अपनी बहन को दिया था. इसके बाद टीम चावड़ी बाजार पहुंची, जहां राधा कि बहन ने बताया कि उसने बच्ची को त्रिलोकपुरी में किसी जानकार के पास छोड़ा था. आज सुबह बच्ची को बरामद कर लिया गया है और पुलिस ने अमनप्रीत, इंदु, मंजू, मनीषा और राधा को गिरफ्तार कर लिया है. मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है और बच्ची के पुनर्वास की कोशिश में पुलिस जुटी है.

बच्ची को कई बार बेचा गया

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा बुधवार देर रात से ही हम और हमारी टीम बच्ची की तलाश में जुटी हुई थी. पूरी रात मशक्कत कर, कई जगह छापे मारे और एक इतने बड़े रैकेट जिसमें बच्ची को कई बार बेचा गया उससे छुड़वाया. इस केस में दिल्ली पुलिस का काम भी सराहनीय रहा, हम उनका भी धन्यवाद करते हैं. मामले में 5 लोग गिरफ्तार हुए हैं. हम अब बच्ची के पुनर्वास पर काम कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज