Home /News /delhi-ncr /

girl students of delhi government school demand cm arvind kejriwal to restore sanitary napkins dlpg

दिल्‍ली की छात्राओं ने सीएम केजरीवाल से की स्‍कूलों में सेनिटरी नैपकिन की मांग

दिल्‍ली के सरकारी स्‍कूलों की छात्राओं ने सीएम केजरीवाल से सेनिटरी नैपकिन की मांग की है.

दिल्‍ली के सरकारी स्‍कूलों की छात्राओं ने सीएम केजरीवाल से सेनिटरी नैपकिन की मांग की है.

आईपा के अध्‍यक्ष ने सीएम केजरीवाल को छात्राओं के पत्र भेजकर सेनिटरी पैड की इस सुविधा को फिर से शुरू कराने की मांग की है. साथ ही लिखा है कि यह छात्राओं की निजी स्‍वच्छता और बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहद जरूरी है. इन सरकारी स्‍कूलों में पढ़ने वाली अधिकांश छात्राएं आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों से आती हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. दिल्‍ली के सरकारी स्‍कूलों की छात्राओं ने मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल से सेनिटरी नैपकिन दिए जाने की मांग की है. छात्राओं ने बताया कि सरकारी स्‍कूलों में छात्राओं को दी जाने वाली सेनिटरी नैपकिन की सुविधा अब बंद कर दी गई है. लड़कियों के स्‍वास्‍थ्‍य और स्‍वच्‍छता के लिए इस सुविधा को फिर से शुरू किया जाना चाहिए. छात्राओं ने कहा कि स्‍कूलों में सेनिटरी पैड न मिलने के कारण उन्‍हें कई बार परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

    ऑल इंडिया पेरेंट्स एजुकेशन के अध्‍यक्ष, एजुकेशन एक्टिविस्‍ट और एडवोकेट अशोक अग्रवाल को भेजी चिठ्ठियों में छात्राओं ने बताया कि जनवरी 2021 से दिल्‍ली के सरकारी स्‍कूलों में सेनिटरी पैड उपलब्‍ध नहीं हैं. जबकि इससे पहले तक सभी स्‍कूलों में छात्राओं को सेनिटरी पैड दिए जाते थे. यहां तक कि कोरोना महामारी के दौरान साल 2020 में भी जब स्‍कूल बंद थे तो छात्राओं तक सेनिटरी नैपकिन पहुंच रहे थे. अब पिछले डेढ़ साल से बिना किसी सूचना के सेनिटरी पैड देना बंद हो गया है.

    आईपा के अध्‍यक्ष ने सीएम केजरीवाल को छात्राओं के पत्र भेजकर सेनिटरी पैड की इस सुविधा को फिर से शुरू कराने की मांग की है. साथ ही लिखा है कि यह छात्राओं की निजी स्‍वच्छता और बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहद जरूरी है. इन सरकारी स्‍कूलों में पढ़ने वाली अधिकांश छात्राएं आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों से आती हैं. वहीं कई ऐसे परिवारों से आती हैं जहां जानकारी का अभाव है और छात्राओं की निजी हाईजीन संबंधी जरूरतों पर गौर नहीं किया जाता. अभी तक सरकार की ओर से सेनिटरी पैड दिए जा रहे थे जिन्‍हें छात्राएं इस्‍तेमाल कर रही थीं लेकिन अब उनके सामने समस्‍या आ गई है.

    एडवोकेट अग्रवाल ने सीएम केजरीवाल से दिल्‍ली के सभी सरकारी स्‍कूलों में फिर से सेनिटरी पैड की सुविधा शुरू करने की मांग की है, ताकि छात्राओं के ड्रॉपआउट को रोका जा सके. उन्‍होंने कहा कि स्‍कूलों में यह भी एक वजह है कि छात्राएं स्‍कूल आने से हिचकती हैं और उनकी उपस्थिति खासतौर पर प्रभावित होती है. छात्राओं की शिक्षा को सुचारू रखने के लिए भी जरूरी है कि सेनिटरी पैड दिए जाएं.

    Tags: Arvind kejriwal, Government School, Parents

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर