इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के इच्छुक छात्रों के लिए अच्छी खबर, NSUT में बढेंगी इतनी सीटें
Delhi-Ncr News in Hindi

इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के इच्छुक छात्रों के लिए अच्छी खबर, NSUT में बढेंगी इतनी सीटें
दिल्ली सरकार ने NSUT में सीटों की संख्या बढ़ा दी है.

दिल्ली सरकार (Delhi Government) एनएसयूटी (NSUT) से दो और इंजीनियरिंग संस्थानों को जोड़ेगी. इन दोनों संस्थान के जुड़ने के बाद B.Tech (Bachelor of Technology) में 360 तथा M.Tech (Master of Technology) में 72 अतिरिक्त सीटें बढ़ जाएंगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 1, 2020, 9:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली की केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) ने नेताजी सुभाष यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी (Netaji Subhas University of Technology) में दो नए परिसरों के विस्तार का निर्णय लिया है. दिल्ली के डिप्टी सीएम और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish sisodia) ने कहा है कि चौधरी ब्रह्म प्रकाश राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज (जाफरपुर) और अंबेडकर इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी एंड रिसर्च (गीता कॉलोनी) को एनएसयूटी से जोड़ा जाएगा. डीटीटीई (Directorate of Training and Technical Education )के तहत पंजीकृत इन दोनों संस्थानों का विकास 12 वर्षों से अधिक समय के बावजूद उत्साहजनक नहीं है. एनएसयूटी (NSUT) से जुड़ने के बाद दोनों संस्थानों में शिक्षण और अनुसंधान के क्षेत्र में विकास होगा. इस विलय से B. Tech (Bachelor of Technology) में 360 तथा M. Tech (Master of Technology) में 72 अतिरिक्त सीटें बढ़ जाएंगी.

 दो और कॉलेज डीडीटीई से जुंड़ेंगे
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के अनुसार दोनों कॉलेजों को एनएसयूटी की प्रतिष्ठा और संसाधनों का लाभ मिलेगा. तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में एनएसयूटी का गौरवशाली इतिहास है. इसका शैक्षणिक कौशल तथा उद्योग जगत के साथ संबंध भी काफी महत्वपूर्ण है. एनएसयूटी की विशिष्टताओं के कारण दोनों कॉलेजों को समुचित विकास का अवसर मिलेगा. सिसोदिया ने इस नई शुरूआत के लिए एनएसयूटी तथा दोनों कॉलेजों को बधाई देते हुए कहा कि दिल्ली सरकार हर बच्चे को गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा देने के लिए लगातार प्रयासरत है.

Netaji Subhash University of Technology, NSUT, NSUT students, NSUT latest news, AAP, Delhi Government, Deputy CM Manish Sisodia, Delhi Government, DTTE, Ch Brahm Prakash Government Engineering College, Jaffarpur, CBPGECJ, Ambedkar Institute of Advanced Communication, Technology Research, AIACT&amp, Geeta Colony, Engineering students, मनीष सिसोदिया, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली सरकार, इंजीनियरिंग के क्षेत्र में रोजगार, छात्र, दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के अनुसार दोनों कॉलेजों को एनएसयूटी की प्रतिष्ठा और संसाधनों का लाभ मिलेगा.
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के अनुसार दोनों कॉलेजों को एनएसयूटी की प्रतिष्ठा और संसाधनों का लाभ मिलेगा.

सिविल, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी और मेकेनिकल इंजीनियरिंग की होगी पढ़ाई


इस विस्तार के बाद जाफरपुर स्थित वेस्ट कैंपस में सिविल, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी और मेकेनिकल इंजीनियरिंग की स्पेशलाइज्ड पढ़ाई होगी. इसी तरह, गीता कॉलोनी स्थित ईस्ट कैंपस में इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग और कंप्यूटर साइंस की स्पेशलाइज्ड पढ़ाई होगी.

ये भी पढ़ें: तीन दोस्त रहते थे साथ-साथ, किराये को लेकर हुई अनबन एक ने कर दी दोनों की हत्या

उल्लेखनीय है कि एनएसयूटी में जेईई (मेन्स) परीक्षा के जरिए नामांकन होता है. इसलिए विस्तार के बाद इन परिसरों में भी जेईई परीक्षा के माध्यम से प्रवेश लिया जाएगा. इसके कारण नामांकित छात्रों की गुणवत्ता में सुधार होगा. वर्तमान में इन दोनों कॉलेजों के आईटी छात्रों को प्लेसमेंट पैकेज मात्र 3.5 से 6.5 लाख रूपये तक मिलता है. जबकि, एनएसयूटी के स्टूडेंट्स को औसतन 11.5 लाख का पैकेज मिलता है और अधिकतम पैकेज 70 लाख तक जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज