Assembly Banner 2021

दिल्ली को वर्ल्ड स्किल सेंटर हब बना रही सरकार, 13 सरकारी संस्थानों को भी स्किल यूनिवर्सिटी में मर्ज करने का फैसला

सांकेतिक फोटो 

सांकेतिक फोटो 

दिल्ली कैबिनेट ने निर्णय लिया है कि राजधानी के सभी 10 सरकारी पॉलीटेक्निक संस्थानों को दिल्ली कौशल एवं उद्यमिता विश्वविद्यालय के अंतर्गत लाया जाएगा. सरकार ने इस कदम को दिल्ली के विद्यार्थियों में कौशल विकास को बढ़ावा देने के लिए काफी अहम माना है. सरकार का विजन यह है कि वह पूरी दिल्ली में 25 वर्ल्ड क्लास स्किल सेंटर स्थापित करे. इस दिशा में कैबिनेट में लिए गए फैसले काफी महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की अध्यक्षता में आज कैबिनेट की अहम मीटिंग हुई  मीटिंग में  उच्च एवं तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा देने से जुड़े कई अहम फैसलों को मंजूरी दी गई.


मुख्यमंत्री दिल्ली कैबिनेट की मीटिंग में यह भी निर्णय लिया गया कि राजधानी के सभी 10 सरकारी पॉलीटेक्निक संस्थानों को दिल्ली कौशल एवं उद्यमिता विश्वविद्यालय (Delhi Skill and Entrepreneurship University) के अंतर्गत लाया जाएगा. सरकार ने इस कदम को दिल्ली के विद्यार्थियों में कौशल विकास को बढ़ावा देने के लिए काफी अहम माना है.


दिल्ली सरकार (Delhi Government) का कहना है कि उसका विजन यह है कि वह पूरी दिल्ली में 25 वर्ल्ड क्लास स्किल सेंटर स्थापित करें. इस दिशा में कैबिनेट में लिए गए फैसले काफी महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं.


सरकार दिल्ली फार्मास्यूटिकल साइंस एंड रिसर्च यूनिवर्सिटी, पुष्प विहार में एक नए वर्ल्ड क्लास स्किल सेंटर की शुरुआत करने जा रही है. इस नए वर्ल्ड क्लास स्किल सेंटर के भवन निर्माण के लिए दिल्ली सरकार ने 9.90 करोड़ रुपये जारी किया है.




सरकार ने यह भी फैसला लिया है कि दिल्ली इंस्टिट्यूट ऑफ़ टूल इंजीनियरिंग (Delhi Institute of Tool Engineering) के वज़ीरपुर और ओखला कैंपस, और जी.बी पंत  इंजीनियरिंग कॉलेज को भी दिल्ली कौशल एवं उद्यमिता विश्वविद्यालय के साथ जोड़ा जाएगा.


डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा कि दिल्ली सरकार (Delhi Government) अपने स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों के लिए नौकरी के अवसरों का विस्तार करने के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने कहा कि ये विलय को स्किलिंग इकोसिस्टम को अधिक कुशल बनाएंगे और हमारे युवाओं की रोजगार और कौशल संभावनाओं को बढ़ाएंगे.


कैबिनेट बैठक में निर्णय लिया गया कि कॉलेज ऑफ आर्ट्स को 'स्कूल ऑफ फाइन आर्ट्स' (Delhi University’s College of Arts) और दिल्ली विरासत अनुसंधान एवं प्रबंधन संस्थान (Delhi Institute of Heritage Research and Management) को स्कूल ऑफ हेरिटेज रिसर्च एंड मैनेजमेंट'के रूप में डॉ. बी.आर.अम्बेडकर विश्वविद्यालय (Dr. B.R Ambedkar University) में शामिल किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज