दिल्ली सरकार ने रेमडेसिविर के वितरण एवं आपूर्ति प्रबंधन के लिए पोर्टल विकसित किया

एक आदेश में यह जानकारी दी गई है. (सांकेतिक फोटो)

एक आदेश में यह जानकारी दी गई है. (सांकेतिक फोटो)

रकार (Government) के औषध नियंत्रण विभाग ने रेमडेसिविर बेचने वाले सभी थोक व्यापारियों और वितरकों को इस पोर्टल पर अपना आंकड़ा अद्यतन करने को कहा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने वितरकों, थोक व्यापारियों एवं अस्पतालों को जरूरतमंद मरीजों के वास्ते रेमडेसिविर टीके (Remadecivir vaccine) के उपयुक्त वितरण एवं आपूर्ति के लिए एक पोर्टल विकसित किया है. एक आदेश में यह जानकारी दी गई है. सरकार (Government) के औषध नियंत्रण विभाग ने रेमडेसिविर बेचने वाले सभी थोक व्यापारियों और वितरकों को इस पोर्टल पर अपना आंकड़ा अद्यतन करने को कहा है. कोविड लक्षण वाले मरीजों के उपचार में रेमडेसिविर का उपयोग किया जा रहा है जोकि एक वायरल-रोधी दवा है.

वहीं, कल खबर सामने आई थी कि देश की राजधानी में कोरोना टीकाकरण का तीसरा एवं सबसे बड़ा चरण सोमवार से शुरू हुआ. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया आज सुबह ही वेस्ट विनोद नगर स्थित वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुंचे. यहां 18 से 44 साल के आयुवर्ग के लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा रहा है. दिल्ली सरकार ने टीकाकरण के इस अभियान के लिए राजधानी के 77 सरकारी स्कूलों का चयन किया है, जहां आज से वैक्सीनेशन शुरू किया गया.

लोगों को टीका लगाया जा रहा था

दिल्ली सरकार ने जिन 77 स्कूलों में टीका लगाने के इंतजाम किए हैं, उन्हें नजदीकी अस्पतालों से अटैच किया गया है. सरकार के मुताबिक ज्यादा से ज्यादा लोग टीकाकरण के लिए आएं, इसलिए स्कूलों में केंद्र बनाए गए हैं. एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली में करीब 90 लाख लोग इस चरण में टीकाकरण के लिए पात्र हैं और तीसरे चरण में टीकाकरण के लिए 77 स्कूलों में पांच-पांच टीकाकरण बूथ बनाए गए हैं. राजधानी के करीब 500 केंद्रों में अभी तक 45 साल से अधिक आयु के लोगों को टीका लगाया जा रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज