• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर हादसों में कमी लाने के लिए अथॉरिटी ने उठाया बड़ा कदम, जानें क्‍या है प्‍लान

नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर हादसों में कमी लाने के लिए अथॉरिटी ने उठाया बड़ा कदम, जानें क्‍या है प्‍लान

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी की इस योजना पर करीब 2.5 करोड़ रुपये का खर्च आएगा.

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी की इस योजना पर करीब 2.5 करोड़ रुपये का खर्च आएगा.

Greater Noida-Noida Expressway: ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी अपने हिस्से में आने वाले नोएडा एक्सप्रेसवे पर हादसों में जोखिम करने के लिए सेंट्रल वर्ज रस्सीनुमा तार वाले बैरियर लगवा रही है. इस पर करीब 2.5 करोड़ रुपये का खर्च आएगा.

  • Share this:

नोएडा. ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे (Greater Noida-Noida Expressway) पर हादसों में जोखिम कम करने के लिए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने एक पहल शुरू की है. अथॉरिटी एक्सप्रेसवे पर अपने हिस्से में सेंट्रल वर्ज रस्सीनुमा तार वाले बैरियर (वायर रोप फ्लेक्सिबल बैरियर) लगवा रही है. वहीं, अनुमान लगाया जा रहा है कि इस पर करीब 2.5 करोड़ रुपये का खर्च आएगा. जबकि ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण ने इसकी शुरुआत की है.

बता दें कि नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे करीब 25 किलोमीटर लंबा है. इसमें परी चौक की तरफ से तकरीबन सवा तीन किलोमीटर लंबाई ग्रेटर नोएडा के हिस्से में है. जबकि बाकी हिस्सा नोएडा अथॉरिटी के पास है. ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी अपने हिस्से में रस्सीनुमा तार लगवा रही है.

तार की मजबूती हादसे रोकेगी
वहीं, तार इतने मजबूत हैं कि 18 टन तक के वजनी लोड वाले वाहन अगर तार से टकराएंगे तो तार नहीं टूटेंगे और तार से टकराने के बाद वाहन दूसरी तरफ नहीं जा सकेंगे. ऐसे में दूसरी तरफ से जा रहे वाहन सुरक्षित रहेंगे और हादसों में कमी आएगी. यही नहीं, तार के लचीलेपन की वजह से वाहन हादसाग्रस्त होने के बाद सेंट्रल वर्ज या उससे पार नहीं जा सकेंगे. ऐसे में सड़क हादसे भी रुकेंगे और अगर कोई हादसा होता है तो यह तार जोखिम भी कम करेंगे. इससे वाहन सवार व्यक्ति को जानमाल का खतरा कम होगा.

Greater Noida-Noida Expressway, Greater Noida Authority, Noida Authority, Road Accident, Noida News

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी अपने हिस्से में रस्सीनुमा तार लगवा रही है, जो कि काफी मजबूत हैं.

एक्सप्रेसवे पर लगे हुए हैं कटीले तार
बता दें कि नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर अभी तक कटीले तार लगे हुए हैं, जिसकी वजह से हादसे में जोखिम होने की आशंका ज्यादा होती है. कई बार इन कटीले तार के वजह से व्यक्ति अपनी जान भी गंवा देता है. इसके अलावा लोहे के तारों की चोरी की शिकायत भी लगातार मिलती रहती है और कटीले तार चोरी होने के चलते लोग अक्सर सड़क पार किया करते थे जिससे कि हादसे होने की आशंका भी रहती थी. इस रस्सीनुमा लचीले तार की वजह से हादसों में कमी आएगी, तो वहीं अनुमान है कि इस तार की चोरी भी नहीं होगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज