Home /News /delhi-ncr /

DM ने जमीन पर बैठ धरना दे रहे परिवार की सुनी फरियाद, न्याय होने का दिया भरोसा

DM ने जमीन पर बैठ धरना दे रहे परिवार की सुनी फरियाद, न्याय होने का दिया भरोसा

सोमवार सुबह प्रताप अपने साथ छोटे-छोटे बच्चों को लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचा और यहां पोर्टिको में खड़ी जिलाधिकारी की कार के सामने धरने पर बैठ गया

सोमवार सुबह प्रताप अपने साथ छोटे-छोटे बच्चों को लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचा और यहां पोर्टिको में खड़ी जिलाधिकारी की कार के सामने धरने पर बैठ गया

गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एलवाई को जब परिवार के धरना देने का पता चला तो वो खुद वहां पहुंचे और जमीन पर बैठ कर पीड़ित की फरियाद सुनी. उन्होंने पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने का भरोसा दिया और एसडीएम (SDM) को मामले की जांच के निर्देश दिए

अधिक पढ़ें ...
ग्रेटर नोएडा. दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) में दबंगों से परेशान होकर एक परिवार न्याय के लिए गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी (DM) की गाड़ी के सामने आकर धरने पर बैठ गया. परिवार के मुताबिक उनकी पचास गज जमीन पर दबंगों ने कब्जा (Land Grabbing) जमा लिया है जिससे परेशान होकर वो कलेक्ट्रेट पहुंचे और बच्चों के साथ पोर्टिको में खड़ी डीएम की गाड़ी के सामने बैठ गए. उन्होंने न्याय नहीं मिलने पर आत्मदाह (Self Immolation) कर लेने की धमकी दी. डीएम सुहास एलवाई को जब यह पता चला तो वो खुद वहां पहुंचे और जमीन पर बैठ कर पीड़ित की फरियाद सुनी. उन्होंने पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने का भरोसा दिया और एसडीएम (SDM) को मामले की जांच के निर्देश दिए.

जानकारी के मुताबिक सूरजपुर थाना क्षेत्र के मुबारकपुर गांव के रहने वाले प्रताप ने वर्ष 2018 में 50 गज जमीन (प्लॉट) खरीदी थी. नियमानुसार उसकी रजिस्ट्री कराने के बाद वो आकर प्लॉट पर रहने लगा था. लेकिन गांव की कुछ दबंग महिलाओं और अन्य लोगों ने प्रताप के प्लॉट पर जबरन कब्जा जमा लिया. प्रताप के मुताबिक इसका विरोध करने पर आरोपी उसके परिवारवालों के साथ मारपीट करते हैं. प्रताप ने इसकी शिकायत पुलिस से की, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई. वो न्याय के लिए बीते दो वर्ष से तहसील और अफसरों के चक्कर रहा रहा है, लेकिन इस मामले में उसे न्याय नहीं मिला.

अपने दफ्तर से निकलकर धरना दे रहे परिवार के पास जमीन पर बैठे डीएम

सरकारी अफसरों और पुलिस के रवैये से परेशान होकर प्रताप सोमवार को अपने बच्चों को लेकर कलेक्ट्रेट पहुंच गया और यहां पोर्टिको में खड़ी डीएम की कार के आगे धरने पर बैठ गया. उसने कहा कि यदि डीएम उसकी फरियाद नहीं सुनेंगे तो वो आत्मदाह करने को मजबूर हो जाएगा. इस बात की जानकारी डीएम को हुई तो वो अपने दफ्तर से निकले और पीड़ित के पास पहुंचकर खुद जमीन पर बैठ गए.

पीड़ित प्रताप की पूरी बात सुनने के बाद डीएम सुहास एलवाई ने परिवार को भरोसा दिया कि हर हाल में उन्हें न्याय मिलेगा, और कोई न तो उसके प्लॉट पर कब्जा कर पाएगा और न ही उसे कोई प्रताड़ित करेगा. डीएम ने मामले की जांच एसडीएम को सौंपी है.

Tags: Dabang delhi, Gautam Buddha Nagar, Gautam Budh Nagar District Administration, Greater noida news, UP news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर