Home /News /delhi-ncr /

सोशल मीडिया पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को गुड़गांव के युवाओं ने सराहा

सोशल मीडिया पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को गुड़गांव के युवाओं ने सराहा

सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए आईटी एक्ट-66ए को असंवैधानिक करार किया है। इस एक्ट के मुताबिक, दूसरे को आपत्तिजनक लगने वाली कोई भी जानकारी कंप्यूटर या मोबाइल फोन से भेजना दंडनीय अपराध माना जाता था।

सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए आईटी एक्ट-66ए को असंवैधानिक करार किया है। इस एक्ट के मुताबिक, दूसरे को आपत्तिजनक लगने वाली कोई भी जानकारी कंप्यूटर या मोबाइल फोन से भेजना दंडनीय अपराध माना जाता था।

सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए आईटी एक्ट-66ए को असंवैधानिक करार किया है। इस एक्ट के मुताबिक, दूसरे को आपत्तिजनक लगने वाली कोई भी जानकारी कंप्यूटर या मोबाइल फोन से भेजना दंडनीय अपराध माना जाता था।

सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए आईटी एक्ट-66ए को असंवैधानिक करार किया है। इस एक्ट के मुताबिक, दूसरे को आपत्तिजनक लगने वाली कोई भी जानकारी कंप्यूटर या मोबाइल फोन से भेजना दंडनीय अपराध माना जाता था।

कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए इस एक्ट को संवैधानिक अधिकार का उलंल्घन बताते हुए असंवैधानिक करार किया है। सरकार ने इस एक्ट को सही बताते हुए तर्क दिया था कि ऐसे एक्ट जरूरी हैं ताकि लोगों को आपत्तिजनक बयान देने से रोका जा सके।

वहीं, गुड़गांव के युवाओं ने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। कुछ युवाओं ने इस फैसले को सही ठहराया है कि लोकतंत्र में अभिव्यक्ति की आजादी है।

इन युवाओं का खासतौर पर लड़कियों का कहना है कि इस एक्ट को पूरी तरह से बंद करना कोई विकल्प नहीं है, क्योंकि कई बार कुछ लोग आपत्तिजनक टिप्पणी कर देते हैं, इसलिए इस एक्ट को पूर्ण रूप से खत्म करने से अच्छा है कि इसमें संशोधन करना चाहिए।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर