अपना शहर चुनें

States

स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2018 में गुरुग्राम को राष्ट्रीय स्तर पर मिला 5वां स्थान

सर्टिफिकेट दिखाते सरपंच
सर्टिफिकेट दिखाते सरपंच

दीवाली पर प्रदूषण को रोकने के लिए भी सरपंचों को निर्देश दिए गए कि गांवों में पटाखे न जलवाएं.

  • Share this:
गुरुग्राम स्वच्छता अभियान को लेकर लगातार आगे बढ़ रहा है. इसी का नतीजा है कि स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण -2018 में सर्वे के दौरान जिला गुरुग्राम को राष्ट्रीय स्तर पर पांचवा स्थान मिला है जिसमें गुरुग्राम के सरपंचों और ग्राम सचिवो का अहम योगदान है. इसके लिए आज गुरुग्राम के एडीसी राकेश कुमार ने सरपंचों व ग्राम सचिवो को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया.

दरअसल गुरुग्राम को स्वच्छता में राष्ट्रीय स्तर पर पांचवा स्थान मिलने पर गुरुग्राम के जॉन हाल में बादशाहपुर, पटौदी, सोहना और फर्रुखनगर के सरपंचों व ग्राम सचिवो का हौंसला अफजाई के लिए प्रशाशन द्वारा एक कार्यक्रम किया गया जिसमें एडीसी (अतिरिक्त उपायुक्त) राकेश कुमार द्वारा स्वच्छता के प्रति एक संदेश भी दिया गया और सरपंचों और ग्राम सचिवो का हौसला बढ़ाने के लिए एक  प्रशंसा पत्र से सम्मानित भी किया गया.

दुष्यंत-दिग्विजय के निष्कासन पर इनेलो में इस्तीफों की बाढ़



वहीं दीवाली पर प्रदूषण को रोकने के लिए भी सरपंचों को निर्देश दिए गए कि गांवों में पटाखे न जलवाए. इसके लिए उन्हें जागरूक भी किया गया ताकि प्रदूषण को रोका जा सके. वहीं सरपंचों का कहना है कि प्रशंसा पत्र मिलने से काफी हौसला बढ़ा है और हम आगे भी स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करेंगे ताकि हम पांचवे स्थान से पहले स्थान पर आ सके.
वहीं सरपंचों ने यह भी कहा कि पढ़ी लिखी पंचायत बनने से काफी फायदा हुआ है और जो शुरुआत भाजपा सरकार द्वारा की गई इससे गांवों में काफी फायदा हुआ है. वहीं गंवो में जो कचरा इकट्ठा होता है उसके लिए प्रशाशन से हमने  सॉलिड वेस्ट मैनजमेंट और बायो गेस प्लांट भी लगाने को कहा है ताकि गांवों में कचरे से खाद भी बनाई जा सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज