लाइव टीवी

गुरुग्राम में RWA मांग रहा घरेलू काम करने वालों का कोरोना टेस्ट रिपोर्ट!
Chandigarh-City News in Hindi

News18Hindi
Updated: May 20, 2020, 1:21 PM IST
गुरुग्राम में RWA मांग रहा घरेलू काम करने वालों का कोरोना टेस्ट रिपोर्ट!
गौतमबुद्धनगर जिले में बुधवार शाम तक 362 संक्रमितों की जानकारी मिली है. (फाइल फोटो)

हरियाणा (Haryana) के गुरुग्राम शहर (Gurugram City) की कॉलोनियों में रहने वाले लोगों औऱ आरडब्लूए (RWA) के बीच हर दिन विवाद बढ़ता दिख रहा है. इसका कारण घरेलू कामकाज करने वाले लोगों को लेकर लागू तुगलकी फरमान है.

  • Share this:
गुरुग्राम. हरियाणा (Haryana) के गुरुग्राम शहर (Gurugram City) की कॉलोनियों में रहने वाले लोगों और आरडब्लूए (RWA) के बीच हर दिन विवाद बढ़ता दिख रहा है. इसका कारण घरेलू कामकाज करने वाले लोगों को लेकर लागू तुगलकी फरमान है. यहां की कई रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन ने इस संबंध में अपने नियम बना रखे हैं. इस कारण लोगों की परेशानी बढ़ती दिख रही है. गुरुग्राम की एक सोसाइटी में रहने वाले लोगों को ऐसा फरमान सुनाया गया जिसे पूरा करना असंभव सा है. दरअसल, सोसाइटी ने कहा है कि उनके घरों में काम करने वाले लोगों की कोरोना टेस्ट करायी जाये और उसकी रिपोर्ट संबंधित आईडब्लूए को सौंपी जाये. जबकि भारत में इस संबंध में लागू प्रोटोकॉल इसकी अनुमति नहीं देते हैं.

यहां होने वाले कोरोना टेस्ट के लिये डॉक्टर की सलाह की जरूरत होती है. साथ ही संबंधित व्यक्ति में कोरोना बीमारी के लक्षण भी दिखने चाहिये. इसकी जांच प्रक्रिया पर पूरी तरह स्वास्थ्य विभाग की नजर रहती है. जिसके लिये आईसीएमआर की गाइडलाइंस का पालन किया जाता है.

इस सोसाइटी में रहने वाले लोग हैं परेशान
इसके बावजूद गुरुग्राम के सेक्टर-65 के इमरेल्ड हिल्स में रहने वाले लोग काफी परेशान लग रहे हैं. दरअसल, यहां के आरडब्लूए ने सोसाइटी में रहने वाले लोगों से इस शर्त को पूरा करने को कहा है. इस संबंध में यहां रहने वाले मनु गुप्ता ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा कि हम लोगों के बेहतर स्वास्थ्य के लिये सोच रहे हैं. गुप्ता का मानना है कि घरेलू काम करने वाले लोग कई घरों में काम करते हैं और संभावना है कि वे कोरोना करियर्स हो सकते हैं.



गुरुग्राम प्रशासन ने जारी की है गाइडलाइन


गुरुग्राम प्रशासन ने इस संबंध में गाइडलाइन जारी की है. इस गाइडलाइन के अनुसार, घरों में काम करने वाले स्टाफ, कार क्लीनर, इलेक्ट्रीशिय़न और प्लंबर कंटेनमेंट जोन को छोड़कर कही भी काम पर जा सकते हैं. इस संबंध में अतिरिक्त मुख्य सचिव और जीएमडीए के प्रमुख ने बताया कि हमने आरडब्लूए को पहले ही साफ तौर पर बता दिया था कि घरेलू काम करने वाले और ड्राइवर को आने से मना नहीं किया जा सकता है. अगर सोसाइटी में रहने वाले लोग उन्हें बुलाना चाहते हैं. सोसाइटी में रहने वाला एक भी व्यक्ति ऐसा चाहता हो तो आरडब्लूए को उन्हें रोकने का कोई अधिकार नहीं है.

 

ये भी पढ़ें: दिल्ली: ऑटो में एक पैसेंजर बैठने के फरमान से यात्रियों के बीच नाराजगी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 20, 2020, 12:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading