Home /News /delhi-ncr /

hate speech big update supreme court approves bail plea of wasim rizvi aka jitendra tyagi

Hate Speech Case : सुप्रीम कोर्ट ने जितेंद्र त्यागी बने वसीम रिजवी को जमानत दी, इस कड़ी हिदायत के साथ

जितेंद्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिज़वी को सुप्रीम कोर्ट ने तीन महीने की ज़मानत दी.

जितेंद्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिज़वी को सुप्रीम कोर्ट ने तीन महीने की ज़मानत दी.

Dharm Sansad Case : हरिद्वार में दिसंबर 2021 को हुई धर्म संसद में दिए भड़काऊ भाषण के आरोप में वसीम रिज़वी फिलहाल जेल में बंद हैं और उत्तराखंड हाई कोर्ट में उनकी ज़मानत याचिका को नामंज़ूर कर दिया गया था. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई हो रही है.

अधिक पढ़ें ...

एहतेशाम
नई दिल्ली. वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी को तीन महीने के लिए ज़मानत मिल गई. भड़काऊ भाषण के मामले में त्यागी को सुप्रीम कोर्ट ने इलाज कराने के लिए तीन महीने की ज़मानत दी है. इससे पहले त्यागी के वकील ने हृदय रोग के इलाज के लिए ज़मानत की मांग की थी. इस याचिका पर सुनवाई करते हुए मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने ज़मानत मंज़ूर करते हुए आदेश दिया की ज़मानत के दौरान वह कोई भड़काऊ भाषण नहीं देंगे.

मंगलवार की सुनवाई से पहले हरिद्वार धर्म संसद मामले से जुड़ी त्यागी की याचिका पर उच्चतम न्यायालय ने उत्तराखंड सरकार से जवाब मांगा था. न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी और न्यायमूर्ति विक्रम नाथ की पीठ ने सख्त टिप्पणी करते हुए क​हा था, चूंकि वे खुद संवेदनशील नहीं है, इससे पूरा माहौल खराब हो रहा है. पीठ ने त्यागी की जमानत याचिका पर राज्य सरकार और अन्य को नोटिस जारी किया था.

त्यागी की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील सिद्धार्थ लूथरा ने कहा था कि त्यागी लगभग छह महीने से हिरासत में हैं और वह कई बीमारियों से पीड़ित हैं. उन्होंने कहा कि त्यागी के खिलाफ दर्ज मामले में अधिकतम सजा तीन साल ही है और इन आधारों पर उन्हें बेल दी जाना चाहिए. गौरतलब है कि इस साल मार्च में उत्तराखंड उच्च न्यायालय द्वारा उनकी जमानत याचिका खारिज कर दिए जाने के बाद त्यागी ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था.

धर्म संसद में हेट स्पीच का सिलसिला
गौरतलब है कि हरिद्वार धर्म संसद में कई साधु संतों ने मुसलमानों के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणियां की थीं. इतना ही नहीं, धर्म संसद में महात्मा गांधी को भी नहीं बख्शा गया. एक साधु कालीचरण महाराज ने तो बापू तक को बुरा भला कह दिया. उन्हें हिरासत में भी लिया गया था. दूसरी ओर मुसलमान से हिन्दू बने वसीम रिजवी उर्फ त्यागी ने भी आपत्तिजनक बयान दिए थे. हरिद्वार के बाद दिल्ली में धर्म संसद हुई थी और वहां भी भड़काऊ बयान दिए गए.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर