Hathras Gangrape Case: दिल्ली में महिला कांग्रेस का प्रदर्शन, सफदरजंग अस्‍पताल के बाहर भीम आर्मी का हल्ला बोल

प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है.
प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है.

प्रदर्शन (Protest) कर रही महिला कांग्रेस अध्यक्ष अमृता धवन सहित कई कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में भी ले लिया. 14 सितंबर को युवती के साथ चार लोगों ने गैंगरेप (Gangerape) किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 29, 2020, 6:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए गैंगरेप (Gangrape) की पीड़िता आखिरकार जिंदगी की जंग हार गई. दिल्‍ली के सफदरजंग अस्‍पताल में उसने मंगलवार को दम तोड़ दिया. इस घटना के बाद से पूरे देश में रोष का माहौल है. पीड़िता की मौत की बाद गुस्सा और फूटा और दिल्ली में महिला कांग्रेस कार्यकर्ता न्याय की मांग को लेकर सड़क पर उतर गईं. मंगलवार को दिल्ली के विजय चौक इलाके में महिला कांग्रेस (Mahila Congress) कार्यकर्ताओं ने जमकर प्रदर्शन किया और पीड़िता के लिए न्याय की मांग की. महिला कांग्रस के प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस की एक टीम भी मौके पर पहुंच गई. दिल्ली महिला कांग्रेस की अध्यक्ष अमृता धवन सहित कई कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में भी ले लिया.

बता दें 14 सितंबर को युवती के साथ उसी के गांव के ही चार लोगों ने गैंगरेप किया और फिर जान से मारने की नियत से उसकी गला दबाकर हत्या की कोशिश की थी. गैंगरेप की शिकार हुई युवती के साथ हैवानियत की सभी हदें पार कर दी गई थीं. उनकी जीभ तक काट दी गई थी. गले के पीछे रीढ़ की हड्डी भी टूट गई थी. मामले में पुलिस ने सभी चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. अब पीड़िता की मौत के बाद उनके खिलाफ हत्या की धारा भी जोड़ दी जाएगी.

महिला कांग्रेस के अकाउंट से किया गया ट्वीट
हाथरस सामूहिक बलात्कार पीड़िता की मौत को लेकर भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने सफदरजंग अस्पताल के बाहर विरोध प्रदर्शन किया.प्रियंका गांधी ने किया ट्वीटइस घटना पर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने भी टिप्पणी की. उन्होंने कहा, 'हाथरस में हैवानियत झेलने वाली दलित बच्ची ने सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया. दो हफ्ते तक वह अस्पतालों में जिंदगी और मौत से जूझती रही. हाथरस, शाहजहांपुर और गोरखपुर में एक के बाद एक रेप की घटनाओं ने राज्य को हिला दिया है.' प्रियंका ने कहा 'यूपी में कानून व्यवस्था हद से ज्यादा बिगड़ चुकी है. महिलाओं की सुरक्षा का नाम-ओ-निशान नहीं है.अपराधी खुले आम अपराध कर रहे हैं. इस बच्ची के क़ातिलों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए. योगी आदित्यनाथ उप्र की महिलाओं की सुरक्षा के प्रति आप जवाबदेह हैं.'महिला कांग्रेस के अकाउंट से किया गया ट्वीट




ये भी पढ़ें: Bihar Assembly Election 2020: क्यों चुनाव से पहले बिहार के वाटरमैन का पता पूछ रहे हैं नेता?

एएसपी प्रकाश कुमार ने कहा कि दुर्भाग्यपूर्ण सूचना मिली है कि पीड़िता जिसे बेहतर इलाज के लिए सफदजंग अस्पताल में एडमिट कराया गया था, उनकी मौत हो गई है. इस मामले में चारों अभियुक्तों को पूर्व में ही गिरफ्तार किया जा चुका है. पहले इस मामले में आईपीसी की धारा 307 के तहत एफआईआर दर्ज की गई थी. बाद में इसमें 376डी की धारा जोड़ी गई. अब मौत के बाद इसमें 302 की धारा और जोड़ी जाएगी. उन्होंने बताया कि पीड़िता का पोस्टमार्टम दिल्ली में करवाया जा रहा है. एएसपी के मुताबिक आरोपी पक्ष और मृतका के परिवार के बीच 2001 में भी एक मामला दर्ज हुआ था. उस मामले में कार्रवाई समाप्त हो चुकी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज