पिज्जा डिलीवरी ब्वॉय के संपर्क में आए 72 परिवारों के Quarantine पर HC ने दिल्ली सरकार से मांगा जवाब
Delhi-Ncr News in Hindi

पिज्जा डिलीवरी ब्वॉय के संपर्क में आए 72 परिवारों के Quarantine पर HC ने दिल्ली सरकार से मांगा जवाब
कानपुर में डीआईजी के पीआर० समेत कई पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित

कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित पिज्जा डिलीवरी ब्वॉय (Pizza Delivary Boy) के संपर्क में आने वाले 72 परिवारों को 30 दिन से क्वारंटाइन (Quarantine) पर रखे जाने पर हाईकोर्ट ने 28 अप्रैल को केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) से जवाब मांगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2020, 10:52 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित पिज्जा डिलीवरी ब्वॉय (Pizza Delivary Boy) के संपर्क में आने वाले 72 परिवारों को 30 दिन से क्वारंटाइन (Quarantine) पर रखे जाने पर हाईकोर्ट ने 28 अप्रैल को केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) से जवाब मांगा है. यह आदेश न्यायालय ने उस याचिका पर दिया जिसमें दिल्ली सरकार पर कोरोना वायरस के संदिग्धों को क्वारंटाइन में रखने के दिशा निर्देश को लागू करने के तरीकों पर प्रश्न उठाया गया था. जस्टिस सी. हरिशंकर ने एक फोटो जर्नलिस्ट की ओर दाखिल याचिका पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिये सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया.

72 परिवारों को 24-25 मार्च को ही क्वारंटाइन में रखा गया था

हिंदुस्तान अखबार के अनुसार याचिकाकर्ता सहित 72 परिवारों को 24-25 मार्च को ही क्वारंटाइन में रखा गया था. याचिका में कहा गया है कि सरकार ने इस बीमारी से बचाव के लिए 14 दिन तक क्वारंटाइन में रखने के दिशा निर्देश दिए हैं. याचिकाकर्ता अमित भार्गव ने न्यायालय को बताया कि क्वारंटाइन के लिए उसके घर पर 15 अप्रैल को  नोटिस लगाया गया, जिसमें लिखा है कि 24 मार्च से 20 अप्रैल तक अवधि में उसे क्वारंटाइन पर रखा गया है.



अमित भार्गव ने लगाई याचिका
याचिका में कहा गया है कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने के दिन से 14 दिन तक क्वारंटाइन में रखने का दिशा निर्देश है. लेकिन इन 72 परिवारों के मामले में सरकार 30 दिन से भी ज्यादा समय ले रही है. याचिकाकर्ता अमित भार्गव ने आरोप लगाया कि इतने समय तक क्वारंटाइन में रखने के बाद भी सरकार ने उनका कोरोना टेस्ट नहीं कराया.

17 अप्रैल को लगाया दूसरा नोटिस

17 अप्रैल को अधिकारियों ने दूसरा नोटिस लगाया जिसमें क्वारंटाइन की अवधि 14-28 अप्रैल बताई गई. याचिका में कहा गया है कि नोटिस लगाते समय अधिकारी अपने विवेक का प्रयोग नहीं कर रहे हैं.

14 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव पाया गया 

कोरोना पॉजिटिव पाया गया पिज्जा डिलीवरी ब्वॉय तबीयत खराब होने पर खुद जांच के लिए कई सरकारी अस्पतालों में गया था, लेकिन उसकी जांच नहीं हो पाई. 12 अप्रैल को उसकी तबीयत ज्यादा बिगड़ी तो वह अपने एक दोस्त के साथ आरएमएल गया और अपनी जांच कराई. 14 अप्रैल को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई. उसके साथ काम करने वाले 17 लोगों को क्वारंटाइन पर तत्काल भेज दिया गया था. इसके बाद उसके संपर्क में आए 72 परिवारों को भी क्वारंटाइन में रहने को कहा गया.

ये भी पढ़ें: COVID-19: ​दिल्ली से सैंपल टेस्ट के लिए नहीं भेजे जाएंगे नोएडा, जानिए क्यों

दिल्ली में 125 नये मामले आए सामने, 3439 पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज