• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Corona Third Wave: स्वास्थ्य मंत्री ने कहा-हर रोज आ सकते हैं 37,000 कोरोना केस, निपटने के लिये कर रहे ये तैयारियां!

Corona Third Wave: स्वास्थ्य मंत्री ने कहा-हर रोज आ सकते हैं 37,000 कोरोना केस, निपटने के लिये कर रहे ये तैयारियां!

दिल्ली सरकार कोरोना की थर्ड वेव के दौरान हर रोज 37,000 केस आने का अनुमान लगाकर तैयारी कर रही है.

दिल्ली सरकार कोरोना की थर्ड वेव के दौरान हर रोज 37,000 केस आने का अनुमान लगाकर तैयारी कर रही है.

Corona Third Wave: दिल्ली सरकार कोरोना की थर्ड वेव के दौरान हर रोज 37,000 केस आने का अनुमान लगाकर तैयारी कर रही है. ऐसे में वह कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट की जांच के लिए दो जीनोम सिक्वेंसिंग लैब (Genome Sequencing Lab) भी तैयार कर रही है. LNJP और ILBS अस्पताल में बनाई जा रही ये लैब्स अगले हफ्ते से काम करना शुरू कर देंगी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) कोरोना की थर्ड वेव (Corona Third Wave) से निपटने की तैयारियों में जुटी हुई है. दिल्ली सरकार का मानना है कि उस दौरान कोरोना (Corona) के हर रोज 37,000 केस तक आने का अनुमान मानकर तैयारी कर रही है. ऐसे में वह कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट (Delta Plus variant) की जांच के लिए  दो जीनोम सिक्वेंसिंग लैब (Genome Sequencing Lab) भी तैयार कर रही है. यह लैब्स अगले हफ्ते से काम करना शुरू कर देंगी.



    स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendar Jain) ने कहा कि दिल्ली में 2 जीनोम सिक्वेंसिंग लैब बनाई जा रही है. एक लैब लोक नायक अस्पताल (LNJP Hospital) में और दूसरी आईएलबीएस अस्पताल (ILBS Hospital) में बनाई जा रही है.

    मंत्री जैन का कहना है कि दिल्ली सरकार कोरोना के प्रतिदिन 37 हजार केस को मानक मानकर तीसरी लहर की तैयारी कर रही है. उन्होंने कहा कि अभी तक केंद्र सरकार (Central Government) को जांच के लिए सैंपल भेजना पड़ता था. लेकिन अब दिल्ली सरकार के अस्पताल में डेल्टा पल्स वेरिएंट (Delta Plus Variant) की जांच हो सकेगी.

    यह भी पढ़ें: 'डेल्टा प्लस' का इस्तेमाल कर रेलवे में टिकट की दलाली कर रहे पाकिस्तानी, IRCTC ने की बड़े बदलाव की तैयारी

    स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि दिल्ली सरकार ने लोक नायक अस्पातल और आईएलबीएस अस्पताल में कोरोना के बदलते रूप का अध्ययन करने के लिए जीनोम सिक्वेंसिंग लैब बनाई है. ये दोनों लैब आने वाले एक हफ्ते में शुरू कर दी जाएंगी. अब दिल्ली के पास यह तकनीक है और इसे दिल्ली सरकार के दो अस्पतालों में इस्तेमाल किया जाएगा.

    कोरोना वायरस लगातार अपना रूप बदलाव करता है
    स्वास्थ्य मंत्री जैन ने कहा कि दिल्ली में जो पिछली लहर देखी गई, वह डेल्टा वैरिएंट की थी. कोरोना वायरस लगातार अपने रूप में बदलाव करता है. इसके अल्फा, बीटा, गामा, डेल्टा आदि जैसे कई प्रकार हैं. दिल्ली में अब तक डेल्टा प्लस वेरिएंट का कोई मामला सामने नहीं आया है. उन्होंने आगे कहा कि हम कोरोना महामारी के लिए आक्रामक रूप से तैयारी कर रहे हैं.

    उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार की ओर से ऐसा कोई नोटिस नहीं मिला है, जिसमें कहा गया हो कि डेल्टा प्लस वैरिएंट के लिए एक खास तरह की तैयारी होनी चाहिए. कोई भी प्रकार का वैरिएंट हो, टीकाकरण और मास्क का उपयोग करके संक्रमण को रोका जा सकता है.

    लोगों को लगता है कोरोना गया, लेकिन गया नहीं है, सतर्क रहें
    बाजारों पर की गई कार्रवाई पर जैन ने कहा कि कोविड के दिशा निर्देशों का सख्ती से पालन करने की आवश्यकता है. पिछली बार जनवरी और फरवरी के दौरान जब कोविड के मामले कम हो गए थे, तब इस बार की तरह ही लोगों बेफिक्र हो गए थे. लोगों को लगा कि कोरोना चला गया है, लेकिन अभी तक कोरोना नहीं गया है.

    उन्होंने कहा कि दिल्ली ने चार कोविड लहरें देखी हैं, जबकि देश ने दो कोविड लहरें देखी हैं. 1.5 साल के अनुभव के बाद, हम जानते हैं कि सुरक्षित रहने के लिए हमें कोविड के उचित व्यवहार का पालन करना ही होगा.

    यह भी पढ़ें: एम्‍स नई ओपीडी में वैक्‍सीनेशन की सुविधा शुरू, वॉक इन की भी सुविधा

    दिल्ली में कुछ दिनों से कोरोना की स्थिति नियंत्रण में है
    उन्होंने कहा कि कल दिल्ली में 6 मौतों के अलावा 94 कोरोना संक्रमित मामले दर्ज किए गए, जबकि 79,935 कोविड टेस्ट किए गए. दिल्ली में रोजाना करीब 75-80 हजार टेस्ट किए जा रहे हैं. दिल्ली में संक्रमण दर 0.12 फीसद है. जैन ने कहा कि दिल्ली में पिछले कुछ दिनों से कोरोना की स्थिति नियंत्रण में है. लेकिन हमें अभी भी सतर्क रहने की जरूरत है और घर से बाहर निकलते समय मास्क पहनने की आवश्यकता है.

    37 हजार बेड तक बढ़ाने की भी तैयारी कर रहे 
    जैन ने कहा कि कोरोना की आने वाली लहर दिल्ली और पूरे देश में पांचवी और तीसरी कोविड लहर के रूप में आ सकती है. हमने पूरी तैयारी कर ली है. हमारे पास 28 हजार कोविड बेड की उपलब्धता थी और हम इसे 37 हजार बेड तक बढ़ाने की भी तैयारी कर रहे हैं. ऑक्सीजन के लिए कई ऑक्सीजन पीएसए और स्टोरेज प्लांट लगाए गए हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज