हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार-MCDs से पूछा-Corona महामारी में डेंगू हुआ तो अस्पताल में कैसे भर्ती होंगे? शुक्रवार को होगी सुनवाई

दिल्ली हाईकोर्ट ने एम्स अस्पताल की मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर महिला के असमान्यता से पीड़ित जुड़वां भ्रण को गर्भपात की अनुमति दे दी है

दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले पर स्वतः संज्ञान लेते हुए दिल्ली सरकार और दिल्ली नगर निगम (MCD) से मच्छरों के बढ़ते प्रकोप से बचने के लिए उठाए गए कदमों पर गुरुवार तक जानकारी तलब की है. पूरे मामले पर शुक्रवार को सुनवाई होगी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना (Corona) संक्रमित मरीजों की संख्या अब धीरे-धीरे कम हो रही है. अस्पतालों में भी बेड और ऑक्सीजन की किल्लत में कमी आई है. लेकिन अब इस बीच मच्छरों के बढ़ते प्रकोप को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) सख्त नजर आ रहा है.

    हाईकोर्ट ने इस मामले पर स्वतः संज्ञान लेते हुए दिल्ली सरकार (Delhi Government) और नगर निगमों (Municipal Corporations) को नोटिस जारी कर पूछा है कि वह मच्छरों के बढ़ते प्रकोप से बचने के लिए क्या कदम उठा रही हैं?

    दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले पर स्वतः संज्ञान लेते हुए दिल्ली सरकार और दिल्ली नगर निगम (MCD) से मच्छरों के बढ़ते प्रकोप से बचने के लिए उठाए गए कदमों पर गुरुवार तक जानकारी तलब की है.



    साथ ही कोरोना महामारी को लेकर अभी हालात सामान्य नहीं होते देख हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार और नगर निगमों को यह भी कहा है कि अगर किसी को डेंगू (Dengue) की बीमारी हुई तो आज कोरोना महामारी के समय में मरीज को भर्ती कराना एक बड़ी समस्या होगी. बताया जाता है कि हाई कोर्ट अब इस पूरे मामले पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा.